सेब और नाशपाती का बगीचा जला:शिमला के तंदाली गांव की घटना; साल भर की मेहनत खाक, लाखों रुपए का नुकसान

शिमला14 दिन पहले
तंदाली गांव में बगीचों में लगी भीषण आग।

हिमाचल प्रदेश के जिला शिमला के तंदाली गांव में आग लगने से सेब और नाशपाती के बगीचे जलकर राख हो गए। इससे बागवानों को लाखों रुपए का नुकसान हुआ है। आग इतनी भयानक थी कि इसे बुझाने में दमकल कर्मियों को कड़ी मेहनत करनी पड़ी। हवा तेज होने के चलते आग बुझाने में दिक्कत हुई। दोपहर करीब 12.30 बजे घासनी में आग लग गई।

आग ने साथ लगते बगीचे को अपनी चपेट में ले लिया। स्थानीय लोगों ने भी आग बुझाने की कोशिश की, लेकिन वह सफल नहीं हो सके। रोहडू स्थित फायर ब्रिगेड को इसकी सूचना दी गई। मौके पर पहुंचे फायर कर्मियों ने आग पर काबू करने का प्रयास किया, लेकिन तब तक जलकर सब कुछ राख हो चुका था। हालांकि, फायर कर्मियों ने 1 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया।

साल भर की मेहनत आंखों के सामने राख

आग लगने से बागवानों की आंखों के सामने ही उनके पौधे जलकर राख हो गए। तंदाली गांव की सरला देवी का कहना है कि इस बार पहले ही सूखे ने हालत खस्ता की हुई है, वहीं अब आग की इस घटना ने मुश्किलें बढ़ा दी हैं। मेरे सेब और नाशपाती के पौधे जलकर राख हो गए हैं। लाखों रुपए का नुकसान हुआ है, सरकार हमें मुआवजा दे।

पंचायत में मुआवजे की मांग रखेंगे

उकली मेंहदली पंचायत की वार्ड मेंबर पूनम पनिष्ठा का कहना है कि दो परिवारों को इसमें खासा नुकसान हुआ है। पौधे जलकर राख हुए हैं। मामले को पंचायत स्तर पर उठाया जाएगा। जिला प्रशासन से भी मुआवजे की मांग की जाएगी। जल्द ही पंचायत स्तर पर एक टीम मौके का मुआयना करेगी।

आग पर कड़ी मशक्कत के बाद काबू पाया गया

रोहडू स्थित फायर ब्रिगेड विभाग के अधिकारी दिलीप कुमार का कहना है कि कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया। हवा तेज चलने के कारण आग फैल गई थी। दो परिवारों के बगीचों में लगे पौधे जलकर राख हुए हैं।