बागवानों को दिए जाएंगे 1.25 लाख पौधे:इटली और USA से किए गए आयातित; 2023-24 में करीब 3 लाख मिलेंगे

5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हिमाचल के बागवानों में लगे सेब के पौधे।             (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
हिमाचल के बागवानों में लगे सेब के पौधे। (फाइल फोटो)

हिमाचल प्रदेश के बागवानों को इस साल के आखिर में 1.25 लाख आयातित सेब के पौधे दिए जाएंगे। उद्यान विभाग ने बागवानी विकास परियोजना (HDP) के तहत इटली और USA से सेब के पौधे आयात कर रखे हैं। अभी आयातित पौधे बागवानी विभाग के विशेषज्ञ की देखरेख में प्रदेश के अलग अलग क्षेत्रों में बनाई गई पोस्ट एंट्री क्वारैंटाइन (PEQ) साइट पर लगाए गए हैं।

PEQ का एक साल पूरा होने के इनका वितरण बागवानों को किया जाना है। बागवानी सचिव अमिताभ अवस्थी ने बताया कि विदेशों से आयातित पौधे अभी क्वारंटीन है। इसी तरह विभाग अपने PCDO में आयातित पौधों को प्रोपोगेट भी कर रहा है। वर्ष उन्होंने बताया कि 2022-23 के दौरान बागवानों को 1.25 लाख और 2023-24 के दौरान तीन लाख विदेशी पौधे दिए जाएंगे।

1134 करोड़ के HDP प्रोजेक्ट से किए आयात

राज्य सरकार ने 1134 करोड़ रुपए की बागवानी विकास परियोजना (HDP) के तहत सेब व दूसरे फलों के पौधे आयात कर रखे हैं। इस परियोजना के कार्यान्वयन के लिए सरकार ने क्लस्टर बना रखे हैं। इन क्लस्टर के बागवानों को बागवानी महकमा तीन-चार सालों से आयातित पौधे मुहैया करवा रहा है।

अब तक 54% बजट खर्च

2023 तक मंजूर बागवानी विकास परियोजना के तहत अब तक 53 से 54 फीसदी बजट ही खर्च किया जा सका है, जबकि 2023 में इस परियोजना की अवधि समाप्त हो जाएगी। इसे देखते हुए हिमाचल सरकार अगले साल विश्व बैंक से प्रोजेक्ट की अवधि बढ़ाने का आग्रह करेगा।

HDP प्रोजेक्ट में दो-तीन साल होती रही राजनीति

HDP प्रोजेक्ट को लेकर शुरू के दो-तीन सालों तक खूब राजनीति होती रही है, 2019 के आखिर में विश्व बैंक की फटकार के बाद से प्रोजेक्ट की गतिविधियां धरातल पर दिखनी शुरू हुई है।