• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • At Many Places In Himachal, Families Went Together To Cast Their Votes, Then A Retired Soldier Cast His Vote After 33 Years In His Booth.

तस्वीरों में देखिए, हिमाचल उप-चुनाव 2021:दोपहर बाद वोट डालने उमड़े लोग; रिटायर्ड फौजी ने 33 साल बाद बूथ में डाला वोट

शिमलाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अर्की विधानसभा क्षेत्र के तहत आने वाले कोटली पोलिंग बूथ में मतदान करने बाद खुशी जाहिर करते मतदाता। यह सभी एक ही परिवार के सदस्य है और सभी एक साथ वोट डालने पहुंचे। - Dainik Bhaskar
अर्की विधानसभा क्षेत्र के तहत आने वाले कोटली पोलिंग बूथ में मतदान करने बाद खुशी जाहिर करते मतदाता। यह सभी एक ही परिवार के सदस्य है और सभी एक साथ वोट डालने पहुंचे।

हिमाचल प्रदेश में शनिवार सुबह 8 बजे से ही उप-चुनावों के लिए लोगों के वोट डालने का सिलसिला जारी है। दोपहर 2 बजे तक करीब 40 फीसदी मतदान हो चुका है। लगातार लोग वोट डालने पहुंच रहे हैं। सुबह मतदान प्रक्रिया धीमी चल रही थी, लेकिन दोपहर होते-होते इसने जोर पकड़ लिया। ऐसे में उम्मीद है कि शाम 6 बजे तक मतदान समाप्त होने पर 75 फीसदी के करीब मतदान रिकाॅर्ड किया जाएगा।

रामपुर के आदर्श पोलिंग बूथ पर पहुंची पोलिंग पार्टी, यहां पर भी मतदान जारी है।
रामपुर के आदर्श पोलिंग बूथ पर पहुंची पोलिंग पार्टी, यहां पर भी मतदान जारी है।

सुबह के समय हिमाचल में ठंड होने से मतदान प्रक्रिया धीमी रही। केवल फतेहपुर में मतदान ठीकठाक चलता रहा। जुब्बल कोटखाई जोकि दोपहर 12 बजे तक ठंडा पड़ा था। यहां पर दोपहर बाद अचानक ही वोट घरों से निकल पड़े। दो बजे तक यहां पर सबसे ज्यादा 48 फीसदी से ज्यादा मतदान हो चुका था। अभी भी लाइनें लगी हुई थी।

स्वतंत्र भारत के पहले मतदाता श्याम शरण नेगी अपने मत का प्रयोग करते हुए। उन्होंने कल्पा में वोट डाला, प्रशासन की और से उन्हें लाने और छोड़ने का प्रबंध किया गया।
स्वतंत्र भारत के पहले मतदाता श्याम शरण नेगी अपने मत का प्रयोग करते हुए। उन्होंने कल्पा में वोट डाला, प्रशासन की और से उन्हें लाने और छोड़ने का प्रबंध किया गया।
शिक्षा मंत्री गोविंद ठाकुर ने कुल्लू में अपने परिवार के साथ वोट डाला, यहां पर दोपहर के बाद वोटर बाहर निकले।
शिक्षा मंत्री गोविंद ठाकुर ने कुल्लू में अपने परिवार के साथ वोट डाला, यहां पर दोपहर के बाद वोटर बाहर निकले।
लाहौल-स्पीति में महिलाएं और पुरुष पारंपरिक परिधानों में वोट डालने पहुंचे। यहां पर मतदाताओं का भव्य स्वागत किया गया।
लाहौल-स्पीति में महिलाएं और पुरुष पारंपरिक परिधानों में वोट डालने पहुंचे। यहां पर मतदाताओं का भव्य स्वागत किया गया।
आदर्श मतदान केंद्र जाहलमा में पारंपरिक परिधान में मतदान के लिए पहुंचे मतदाता। मतदाताओं का पोलिंग पार्टी द्वारा स्थानीय परंपरा के मुताबिक स्वागत भी किया गया। मतदान केंद्र पर मतदाताओं के लिए चाय- पान की व्यवस्था के अलावा वेटिंग रूम और क्रेच भी स्थापित किया गया है।
आदर्श मतदान केंद्र जाहलमा में पारंपरिक परिधान में मतदान के लिए पहुंचे मतदाता। मतदाताओं का पोलिंग पार्टी द्वारा स्थानीय परंपरा के मुताबिक स्वागत भी किया गया। मतदान केंद्र पर मतदाताओं के लिए चाय- पान की व्यवस्था के अलावा वेटिंग रूम और क्रेच भी स्थापित किया गया है।
इनका नाम रेवत राम है। यह पूर्व सैनिक हैं। इन्होंने 52 साल की उम्र में पहली बार मतदान केंद्र जाकर अपने मत का प्रयोग किया। यह 18 वर्ष के थे जब आईटीबीपी में भर्ती हो गए थे और जब भी चुनाव हुए, यह ड्यूटी पर ही तैनात थे और स्टेशन से बाहर थे। इसलिए इन्होंने आज तक केवल पोस्टल बैलेट से ही वोट डाला। आज पहला मौका है जब इन्होंने मंडी संसदीय क्षेत्र के सांसद के उपचुनाव में रोहड़ीधार बूथ में आकर चुनावी मतदान प्रक्रिया के अनुसार मतदान किया।
इनका नाम रेवत राम है। यह पूर्व सैनिक हैं। इन्होंने 52 साल की उम्र में पहली बार मतदान केंद्र जाकर अपने मत का प्रयोग किया। यह 18 वर्ष के थे जब आईटीबीपी में भर्ती हो गए थे और जब भी चुनाव हुए, यह ड्यूटी पर ही तैनात थे और स्टेशन से बाहर थे। इसलिए इन्होंने आज तक केवल पोस्टल बैलेट से ही वोट डाला। आज पहला मौका है जब इन्होंने मंडी संसदीय क्षेत्र के सांसद के उपचुनाव में रोहड़ीधार बूथ में आकर चुनावी मतदान प्रक्रिया के अनुसार मतदान किया।
ग्रामीण क्षेत्रों में बनाए गए मतदान केंद्रों में भी कोविड प्रोटोकॉल का पालन किया गया।
ग्रामीण क्षेत्रों में बनाए गए मतदान केंद्रों में भी कोविड प्रोटोकॉल का पालन किया गया।
खबरें और भी हैं...