शिमला के मलयाना में लगा जागरूकता शिविर:पशुपालन विभाग के अधिकारियों ने लंपी वायरस की रोकथाम की दी जानकारी

शिमला4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पशुपालकों को दवाइयों की किट देते विभाग के अधिकारी। - Dainik Bhaskar
पशुपालकों को दवाइयों की किट देते विभाग के अधिकारी।

हिमाचल के शिमला स्थित मलयाना पंचायत में मंगलवार को पशुपालन विभाग द्वारा लोगों को लंपी वायरस की रोकथाम के लिए जागरूक किया गया। राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के तहत एक दिवसीय जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया। इसमें पशुपालन से संबंधित और लंपी त्वचा रोग के लक्षण, उपचार संबंधित जानकारी लोगों को दी गई।

शिविर की अध्यक्षता पंचायत के उप-प्रधान राजेश मेहता ने की। इस अवसर पर पंथाघाटी पशु चिकित्सालय की पशुपालन अधिकारी डॉ. परिणीता पराशर ने लंपी रोग और इससे संबंधित जानकारी उपस्थित पशुपालकों को दी।उन्होंने कहा कि इस रोग से डरने की कोई जरूरत नहीं है। राज्य सरकार के दिशा-निर्देश के अनुसार इस बीमारी से पशुओं को बचाया जा रहा है।

उन्होंने जानकारी दी कि पशु चिकित्सालय पंथाघटी के तहत इस दिशा में 2100 पशुओं का टीकाकरण भी किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि इस बीमारी से बचाने के लिए सतर्कता आवश्यक है। इसके साथ ही पशु पालन विभाग और राज्य सरकार की पशु पालन संबंधित योजनाओं पर विस्तृत रूप से जानकारी दी गई। इस अवसर पर पशुपालकों के साथ प्रश्न-उत्तर सेशन का भी आयोजन किया गया।

शिविर में उपस्थित 40 पशुपालकों को दवा किट भी प्रदान की गई। मलयाना पंचायत के उपप्रधान राजेश मेहता ने पशुपालन विभाग का जागरूकता शिविर को पंचायत में आयोजित करने के लिए धन्यवाद किया। इस अवसर पर पंचायत के कर्मचारियों सहित मलयाना की वार्ड सदस्य रेखा, पशुपालन विभाग पंथाघाटी के पशुपालन सहायक इंदर सिंह खाची, मलयाना के पशुपालन फार्मासिस्ट जोगिंदर आदि मौजूद थे।