निजी शिक्षण संस्थानों में बायोमीट्रिक अटेंडेंस:स्टूडेंट-टीचर्स और अन्य कर्मी लगाएंगे, आयोग का आदेश- जल्दी मशीनें लगाएं स्कूल-कॉलेज-यूनिवर्सिटी

शिमला13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक तस्वीर - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल प्रदेश के सभी प्राइवेट शिक्षण संस्थानाें काे अब बायाेमीट्रिक अटेंडेंस लगेगी, जिसके लिए जल्दी ही मशीनें लगानी हाेंगी। सभी स्टूडेेंट, टीचर्स और कर्मचारी अटेडेंस लगाएंगे। छात्रों और स्टाफ की गैर हाजिरी और अनियमितता की शिकायताें काे देखते हुए हिमाचल प्राइवेट एजुकेशन रेगुलेटरी कमीशन ने यह फैसला लिया है, जिसका उल्लंघन करने पर कार्रवाई होगी।

रेगुलेटरी कमीशन के दायरे में आने वाले प्राइवेट कॉलेज और यूनिवर्सिटी में तुरंत प्रभाव से यह आदेश लागू हाेंगे। इस बारे में आयोग की ओर से सभी शिक्षण संस्थानों को पत्र के माध्यम से सूचित किया गया है। पिछले काफी समय से आयोग को शिकायतें मिल रही थीं कि प्रदेश की कुछ प्राइवेट यूनिवर्सिटी और कॉलेज हाजिरी की शर्तों को पूरा ही नहीं कर रहे हैं।

कई बीएड कॉलेज तो ऐसे हैं, जहां छात्र एक बार एडमिशन ले लेते हैं और उसके बाद पूरे सत्र में गायब रहते हैं। यह स्टूडेंट सीधे परीक्षा देने ही पहुंचते हैं।स्टाफ भी अपनी डयूटी रेगुलर तौर पर नहीं कर रहे हैं। इसकी शिकायत हिमाचल प्राइवेट एजुकेशन रेगुलेटरी कमीशन काे मिली थी। जांच की गई तो शिकायत सही मिली कि कुछ कॉलेजों में हाजिरी रजिस्टर मेंटेन नहीं था।

गड़बड़ी की शिकायताें पर लिया गया येह फैसला

एक्शन लेते हुए नियामक आयोग ने आदेश जारी किए कि अटेंडेंस रजिस्टर मेंटेंन करें और साथ ही छात्रों के टीचिंग-डे पर भी प्रशासन ध्यान दें। हर रोज संस्थान में बायोमीट्रिक मशीन से हाजिरी लगेगी और आयोग अपने स्तर पर समय-समय पर इसकी जांच भी करेगा। पहले संस्थानों में बायोमीट्रिक की व्यवस्था नहीं थी, लेकिन अब इसे तुरंत प्रभाव से लागू करने के आदेश जारी किए गए हैं।

लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी: अध्यक्ष

हिमाचल प्राइवेट एजुकेशन रेगुलेटरी कमीशन के अध्यक्ष अतुल काैशिक का कहना है कि सभी प्राइवेट शिक्षण संस्थानों में बायोमीट्रिक से छात्रों और स्टाफ की हाजिरी लगाने की व्यव्था की गई है। शिक्षण संस्थानों को आदेश जारी किए गए हैं। किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।