हिमाचल में उपचुनाव:पार्टी प्रत्याशी के खिलाफ आजाद खड़े होने पर भाजपा की कार्रवाई, चेतन बरागटा निष्कासित

शिमलाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बगावती तेवर दिखाने वाले पार्टी के युवा नेता चेतन बरागटा को भाजपा ने पार्टी से छह साल के लिए निष्कासित कर दिया है। चेतन भाजपा आईटी विभाग के प्रदेश संयोजक भी हैं। उनके निष्कासन के बाद पार्टी आईटी सेल का नया संयोजक नियुक्त करेगी।

भाजपा ने उप चुनाव में जुब्बल कोटखाई से पार्टी की अधिकृत उम्मीदवार नीलम सरैइक के खिलाफ चुनाव मैदान में उतरने की वजह से चेतन को छह साल के लिए पार्टी से निष्कासित किया है। भाजपा सूत्रों का कहना है कि उप चुनाव में कई अन्य नेताओं पर भी अनुशासनहीनता की गाज गिर सकती है।

उल्लेखनीय है कि चेतन बरागटा भाजपा के वरिष्ठ नेता और दो मर्तबा धूमल सरकार में मंत्री रहे स्व. नरेंद्र बरागटा के पुत्र हैं। नरेंद्र बरागटा के आकस्मिक निधन के बाद जुब्बल कोटखाई में उप चुनाव हो रहा है। नरेंद्र बरागटा के निधन के बाद भाजपा के कई नेताओं ने जुब्बल कोटखाई का दौरा किया। इस दौरान चेतन मंच पर रहे।

चेतन की मंच पर मौजूदगी से इस बात के संकेत मिल रहे थे कि पार्टी उप चुनाव में उन्हें उम्मीदवार बनाएगी। मगर हाई कमान ने टिकट नीलम सरैइक को दिया। इसके बाद बरागटा ने बगावती तेवर दिखाए। पार्टी नेताओं ने उनके मान मनौव्वल के प्रयास किए बावजूद इसके बात नहीं बनी। भाजपा को उम्मीद थी कि चेतन 13 अक्तूबर को नामांकन पत्र वापस लेंगे। मगर ऐसा न होने के बाद पार्टी ने उनका निष्साकन किया है।

उपचुनाव में 18 उम्मीदवार मैदान में
शिमला| प्रदेश में 30 अक्टूबर को होने वाले एक लोकसभा और 3विधानसभा क्षेत्रों के उप चुनाव में 18 उम्मीदवार चुनावी मैदान में शेष रह गए हैं। बुधवार को नामांकन प्रक्रिया पूरी होने के बाद चुनाव विभाग ने प्रत्याशियों को चुनाव चिन्ह आवंटित किए। मुख्य निर्वाचन अधिकारी सी पालरासु ने बताया कि नामांकन-पत्र वापस लेने के आखिरी दिन किसी भी प्रत्याशी ने नामांकन वापस नहीं लिया।
मंडी संसदीय क्षेत्र से 6 उम्मीदवारों में भाजपा के ब्रिगेडियर कुशाल चंद ठाकुर, इंडियन नेशनल कांग्रेस की प्रतिभा सिंह, राष्ट्रीय लोकनीति पार्टी की अम्बिका श्याम, हिमाचल जनक्रांति पार्टी के मुन्शी राम ठाकुर और निर्दलीय उम्मीदवार अनिल कुमार व सुभाष मोहन स्नेही हैं।
अर्की से भाजपा के प्रत्याशी रत्न सिंह पाल, कांग्रेस पार्टी के संजय और निर्दलीय जीत राम प्रत्याशी चुनावी मैदान में खड़े हैं। फतेहपुर विधानसभा क्षेत्र से 5 प्रत्याशियों में भाजपा के बलदेव ठाकुर, इंडियन नेशनल कांग्रेस के भवानी सिंह पठानिया, हिमाचल जनक्रांति पार्टी के पंकज कुमार दर्शी व निर्दलीय प्रत्याशी डाॅ. अशोक कुमार सोमल और डाॅ. राजन सुशांत हैं।

जुब्बल-कोटखाई विधानसभा क्षेत्र से चार उम्मीदवारों में भाजपा की नीलम सरैईक, इंडियन नेशनल कांग्रेस के रोहित ठाकुर, निर्दलीय प्रत्याशी चेतन सिंह बरागटा और सुमन कदम शामिल हैं। भाजपा के नेता यहां से पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री और विधायक रहे स्वर्गीय नरेंद्र बरागटा के पुत्र चेतन बरगाटा कि नारज़गी को दूर नहीं करवा पाए। उपचुनाव में टिकट ना मिलने से नाराज चेतन बरागटा ने आजाद ही चुनाव लड़ने का फैसला लिया है। इससे कही ना कही भाजपा कि मुश्किलें बढ़ सकती है। अब देखना है कि जुब्बल कोटखाई विधानसभा क्षेत्र के उपचुनाव में यह तिकोनी मुकाबला किसके पक्ष में जाता है। इस पर सभी की निगाहें टिकी है।

खबरें और भी हैं...