• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Brigadier Will Be Happy Face Of BJP From Mandi, Ratan Singh Pal From Arki, Baldev Thakur From Fatehpur, Neelam Sarik From Jubbal Kotkhai

भाजपा के टिकटों का ऐलान:मंडी संसदीय सीट से ब्रिगेडियर खुशहाल लड़ेंगे चुनाव, अर्की से रतन पाल, फतेहपुर से बलदेव ठाकुर और जुब्बल-कोटखाई से नीलम के नाम की घोषणा

शिमला9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मंडी से ब्रिगेडियर खुशहाल होंगे भाजपा के चेहरा। - Dainik Bhaskar
मंडी से ब्रिगेडियर खुशहाल होंगे भाजपा के चेहरा।

शारदीय नवरात्र शुरू होते ही भाजपा ने हिमाचल की एक संसदीय और 3 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए अपने उम्मीदवारों के नाम की घोषणा कर दी। भाजपा ने मंडी संसदीय सीट और फतेहपुर व जुब्बल-कोटखाई विधानसभा सीट पर नए चेहरों को टिकट देकर सबको चौंका दिया। मंडी संसदीय सीट पर होने वाले उपचुनाव में भाजपा ने कारगिल हीरो रिटायर्ड ब्रिगेडियर खुशहाल सिंह को मैदान में उतारा है। जुब्बल-कोटखाई से टिकट के प्रबल दावेदार चेतन बरागटा की जगह भाजपा नेत्री नीलम सरइक को उम्मीदवार बनाया गया। फतेहपुर से बलदेव ठाकुर को टिकट दिया गया वहीं अर्की सीट पर रतन सिंह पाल को दोबारा से चुनावी मैदान में उतारा गया।

भाजपा ने मंडी संसदीय सीट पर सेना कार्ड खेला है। पार्टी ने यहां से कारगिल हीरो रिटायर्ड ब्रिगेडियर खुशहाल सिंह को कांग्रेस प्रत्याशी प्रतिभा सिंह के खिलाफ मैदान में उतारा। ब्रिगेडियर खुशहाल सिंह मंडी जिले के द्रंग विधानसभा क्षेत्र में पड़ते नगवाईं गांव के रहने वाले हैं। उनके नेतृत्व वाली 18 ग्रेनेडियर ने कारगिल युद्ध में न केवल टाइगर हिल और तोलोलिंग पहाड़ियों पर विजय पताका फहराई बल्कि युद्ध में भारत की जीत का भी रास्ता तैयार किया। 2019 के लोकसभा चुनाव में भी रिटायर्ड ब्रिगेडियर खुशहाल सिंह का नाम पैनल में था, लेकिन तब उन्हें टिकट नहीं मिल पाया।

अर्की से रतन सिंह पाल।
अर्की से रतन सिंह पाल।

भाजपा ने जुब्बल कोटखाई और फतेहपुर में भी बड़ा उलटफेर किया। यहां अंतिम समय तक जिन लोगों के नाम पर सहमति बनती दिख रही थी, पार्टी ने उनकी जगह नए चेहरों को मौका दे दिया। पार्टी ने यह बदलाव रातों-रात किया। भाजपा ने जुब्बल कोटखाई से टिकट के प्रबल दावेदार चेतन बरागटा की जगह महिला कार्ड खेलते हुए नीलम सरइक को मैदान में उतारा है। नीलम तीन बार जिला परिषद सदस्य रह चुकी हैं। वह शिमला जिला महिला मोर्चा की अध्यक्ष और राज्य महिला मोर्चा की सचिव रह चुकी हैं। जुब्बल कोटखाई में पूर्व मंत्री नरेंद्र भागता के बेटे चेतन बरागटा कई दिनों से चुनावी तैयारियों में लगे थे। वह यहां कई जनसभाएं भी कर चुके लेकिन अंतिम समय में भाजपा ने नीलम को मैदान में उतार दिया।

इसी तरह फतेहपुर में पूर्व राज्यसभा सांसद कृपाल परमार को दरकिनार करते हुए भाजपा ने 2017 में पार्टी से बगावत करने वाले बलदेव ठाकुर को टिकट दिया है। 2017 के चुनाव में बलदेव ठाकुर ने भाजपा से बागी होकर निर्दलीय चुनाव लड़ा था। अर्की से 2017 में पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय वीरभद्र सिंह के सामने 7000 से कम वोटों से हारने वाले रतनपाल सिंह को दोबारा मौका दिया गया। रतनपाल को टिकट मिलने के बाद अर्की में भाजपा के 2 बार विधायक रह चुके गोविंदराम शर्मा बगावत कर सकते हैं। गोविंदराम शर्मा पहले ही कह चुके हैं कि यदि रतनपाल को टिकट मिला तो वह उसका समर्थन नहीं करेंगे। ऐसे में अब भाजपा के सामने रूठों को मनाने की चुनौती होगी क्योंकि यह लोग उसका समीकरण बिगाड़ सकते हैं।

खबरें और भी हैं...