पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • By Channelization Of The City's Largest Lift Drain, Beautification Will Be Done On Both Sides, From Sports Complex To Lalpani Bypass, 9.94 Crore Will Be Spent

प्रोजेक्ट:शहर के सबसे बड़े लिफ्ट के नाले का चैनेलाइजेशन करके दाेनों तरफ हाेगी ब्यूटीफिकेशन, खेल परिसर से लालपानी बाईपास तक 9.94 करोड़ होंगे खर्च

शिमला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नाले में भी कूड़ा-कर्कट और गंदगी ही दिखती है जो जल्द साफ होगी।
  • शहर के सबसे गंदे नाले के दोनों और 10-10 मीटर पर लैंडस्केपिंग कर लगाए जाएंगे फूल-पौधे
  • वेस्ट वॉटर के लिए बनेगा ट्रीटमेंट प्लांट, लैंड स्लाइडिंग से कृष्णानगर में घरों पर बनता खतरा भी हाेगा दूर

कई दशकों से शिमला शहर की गंदगी ढोने वाले शहर के सबसे बड़े लिफ्ट के नाले को देखकर अब बुरा नहीं लगेगा। मालरोड में खेल परिसर लेकर लालपानी बाईपास तक इस नाले का चैनेलाइजेशन किया जाएगा। चैनेलाइजेशन के साथ-साथ नाले के दोनों ओर दस-दस मीटर तक लैंडस्केपिंग कर इसके दोनों ओर ब्यूटीफिकेशन की जाएगी। यही नहीं नाले के पानी को साफ करने के लिए इसके निचले हिस्से में एक ट्रीटमेंट प्लांट लगाया जाएगा। इसके साथ ही एक जलाशय भी बनेगा जो कि इस नाले की सुंदरता को चार चांद लगाएगा।

इस पूरे प्रोजेक्ट पर करीब 9.94 करोड़ का खर्च आएगा। यह काम निजी फर्म के माध्यम से करवाया जाएगा। नाले की लंबाई 900 मीटर है। शिमला शहर के सबसे बड़े लिफ्ट के नाले की अब सूरत बदलेगी। इसके दोनों ओर छोटे-पेड़-पौधे लगाकर इसे हरा भरा किया जाएगा। शहर का यह बड़ा नाला मालरोड में खेल परिसर के पास से शुरू होता है और सर्कुलर रोड पर ब्रिज से नीचे गुजरता है। इसके बाद यह नाला आगे लालपानी बाईपास तक जाता है। लेकिन इस नाले की हालात अभी बेहद खराब है। नाले में मिट्टी और कूड़ा कर्कट जाता रहता है जिससे यह भर जाता है। हालांकि इसको बार-बार साफ करने पर भी इसकी हालात नहीं सुधर रही। दूर-दूर से दिखने वाला यह नाला शहर की छवि खराब करता है।

बाईपास के पास बनेगा जलाशय

बाईपास के पास ऊपर की ओर इस नाले पर एक जलाशय भी बनाया जाएगा। नाले के सौंदर्यीकरण के मकसद से जलाशय बनाने की योजना है। इसमें ट्रीटमेंट प्लांट से आया पानी रखा जाएगा। मुख्य नाले के निचले हिस्से में एक ओर छोटी ड्रेन है, इसके पानी को ट्रीट कर इस जलाशय में डाला जाएगा।

5 लाख लीटर होगी वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट की क्षमता

नाले में आने वाले वेस्ट वॉटर को भी साफ किया जाएगा। इसके लिए ट्रीटमेंट प्लांट इस नाले के निचले हिस्से में लगाया जाएगा। इस प्लांट की क्षमता 0.50 एमएलडी की रहेगी। इस तरह इस पानी को साफ कर अन्य काम में इस्तेमाल किया जा सकेगा। बरसात में भारी फ्लड आने की आशंका रहती है, ऐसे में इस प्लांट को इस तरह बनाया जाएगा कि भारी बारिश से भी इसे कोई नुकसान न पहुंचे। प्लांट से पहले गेट होगा, जिसको खोलकर भारी फ्लड के पानी को छोड़ने का का विकल्प रहेगा।

कृष्णानगर में रहने वाले लोग सुरक्षित करेंगे महसूस

नाले की चैनेलाइजेशन से इसके आसपास होने वाली लैंड स्लाइडिंग से भी निजात मिलेगी। नाले की एक ओर कृष्णानगर है, जहां कई घर नाले के साथ ही बने हैं। बरसात में भारी बारिश से इसमें लैंड स्लाइडिंग होती रहती है जिससे यहां कई मकानों को खतरा बना हुआ है। लेकिन चैनेलाइजेशन होने से इसके आसपास घर भी सुरक्षित होंगे।

लिफ्ट के नाले की चैनेलाइजेशन का काम किया जाएगा। इससे साथ ब्यूटीफिकेशन भी की जाएगी। नगर निगम शहर के सौंदर्यीकरण करने के लिए कई कदम उठा रहा है। मालरोड के खेल परिसर से लेकर बाईपास में लालपानी तक करीब 900 मीटर के इस नाले की चैनेलाइजेशन होगी। -सत्या कौंडल, मेयर नगर निगम

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि वालों से अनुरोध है कि आज बाहरी गतिविधियों को स्थगित करके घर पर ही अपनी वित्तीय योजनाओं संबंधी कार्यों पर ध्यान केंद्रित रखें। आपके कार्य संपन्न होंगे। घर में भी एक खुशनुमा माहौल बना ...

और पढ़ें