पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बर्फबारी का असर:शहर काे मिली सिर्फ 21 एमएलडी पानी की सप्लाई, 45 से 50 एमएलडी की हाेती है जरूरत

शिमला19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बर्फबारी का असर - Dainik Bhaskar
बर्फबारी का असर
  • कई क्षेत्रों में बिजली कट और लाे वाेल्टेज की भी समस्या
  • सड़कें स्लीपरी हाेने से सुबह शाम शहर में नहीं चली बसें

बर्फबारी के बाद शिमला शहर के लोगों की मुश्किलें अभी कम नहीं हुई हैं। शहर में अब पानी की किल्लत हो गई है। शनिवार को विभिन्न पेयजल परियोजनाओं से शहर को मात्र 21 एमएलडी पानी ही मिल पाया,यह लगातार दूसरे दिन है जब शहर को बेहद कम पानी इन परियोजनाओं से मिला है। इससे पहले शुक्रवार को शिमला शहर में भी इन पेयजल परियोजनाओं से 29 एमएलडी ही पानी मिल पाया।

इस कारण शहर के कई इलाकों में पानी ही नहीं मिला। पानी की कमी के साथ ही शहर में कई जगह पावर कट लगते रहे। वहीं सड़कें जमी होने के कारण रोड स्लीपरी बनी रही, जिसके चलते कई जगह गाड़ियां फिसलीं। पेयजल परियोजनाओं से शहर को पानी की सप्लाई बुरी तरह से प्रभावित हुई है। आम दिनों में जहां शहर को 45-46 एमएलडी पानी मिलता है, वहीं शनिवार को यह घटकर आधी रह गई।

शहर को शनिवार सुबह तक 2 करोड़ 17 लाख लीटर (21 एमएलडी) पानी ही मिल पाया। इनमें शहर की सबसे बड़ी गुम्मा परियोजना से 10.86 एमएलडी पानी मिला जबकि आम दिनों यहां से 20 से 21 एमएलडी पानी मिलता है। इसी तरह गिरी से मात्र 9.62 एमएलडी पानी ही मिला, जबकि आम दिनों में यहां से 18 से 19 एमएलडी पानी मिलता है।

इन परियोजनाओं से पानी की लिफ्टिंग बिजली बाधित वजह से प्रभावित हुई। शनिवार को भी सबसे ज्यादा दिक्कत गिरी में आई, यहां दोपहरबाद तक मात्र दो ही पंप काम कर रहे थे। गुम्मा में पांच पंपों चले हुए थे। इस तरह शनिवार दिन को यहां से भी पानी की पूरी लिफ्टिंग नहीं हो पाई।

छोटी परियोजनाएं पूरी तरह रही ठप, कई एरिया में नहीं आया पानी

बिजली न होने से छोटी परियोजनाओं में से कुछ पुरी तरह ठप्प रही जबकि बाकी आंशिक तौर पर ही चली। चुरूट से और कोटी बरांडी परियोजना से पानी की लिफ्टिंग बंद रही। आम दिनों में चुरूट से करीब तीन एमएलडी पानी मिलता है और कोटी बरांडी से करीब 2.50 एमएलडी के आसपास पानी शहर को आता है। इसी तरह चेयड़ से शहर को 0.30 एमएलडी पानी मिला।

पेयजल परियोजनाओं से पानी मिलने के कारण शहर के कई क्षेत्रोंं में पानी की सप्लाई नहीं दी जा सकी। शहर छोटा शिमला जोन के तहत आने वाले मजीठा हाउस, ऐरा होम, एसडीए कोलानी विकासनगर, लोअर खलीणी, झंझीड़ी, भगवती नगर, निगम बिहार में सुबह की सप्लाई नहीं दी जा सकी।

इसी तरह सेंट्रल जोन में सुबह की सप्लाई भराड़ी, कलस्टन में भी नहीं दी गई। वहीं जिन एरिया में दी गई वहां कम समय के लिए पानी दिया गया। शाम की सप्लाई भी कई जगह प्रभावित हुई है। संजौली में हालांकि सप्लाई दी गई है लेकिन इसकी टाइमिंग कम करनी पड़ी।

एजीएम एसजेपीएनएल राजेश कश्यप का कहना है कि शुक्रवार को बिजली की सप्लाई बाधित होने से कुछ पेयजल परियोजनाओं से पानी की लिफ्टिंग नहीं हो पाई। अन्य परियोजनाओं से भी कम पानी मिल पाया है। शनिवार को भी बिजली की वजह से गिरी के पंप पूरी तरह से नहीं चल पाए। जिन एरिया में पानी नहीं दिया जा सका है उनमें प्राथमिकता के आधार पर रविवार को पानी दिया जाएगा।

बिजली कट और लाे वाेल्टेज बनी परेशानी

शिमला शहर और इसके आसपास के इलाकों में शनिवार को भी बिजली के कट लगते रहे। कई जगह लो वोल्टेज की भी समस्या रही। इससे घरों और दफ्तरों में लोग ठंड में ठिठुरते रहे। दफ्तरों का काम काज भी इससे प्रभावित होता रहा।

सुबह शाम शहर में नहीं चली बसें

शनिवार को शिमला शहर में सुबह और शाम को बसें नहीं चल पाईं। सुबह के समय बर्फ जमने के कारण सड़कें कई जगह सड़कें फिसलन भरी बनी हुई थी, ऐसे में बसें सुबह नहीं चलीं। इस कारण लोग दफ्तरों तक पैदल ही गए। सुबह करीब 11 बजे के बाद ही बसें चलीं। इसी तरह शाम के समय अधिकांश बसें नहीं चलाईं। सड़क पर कुछ एक एचआरटीसी की बसें ही दिखीं। ऐसे में देर शाम को काम से घर लौटने वालों को दिक्कतें हुईं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आपकी प्रतिभा और व्यक्तित्व खुलकर लोगों के सामने आएंगे और आप अपने कार्यों को बेहतरीन तरीके से संपन्न करेंगे। आपके विरोधी आपके समक्ष टिक नहीं पाएंगे। समाज में भी मान-सम्मान बना रहेगा। नेग...

    और पढ़ें