राहत की खबर:प्रदेश में घटने लगा कोरोना पॉजिटिव का आंकड़ा, रिकवरी रेट 8 दिन में 8 % बढ़ा

शिमला6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • हिमाचल में कर्फ्यू के बाद बढ़ा रिकवरी रेट, 33 हजार 827 लाेगाें ने दी काेराेना काे मात

प्रदेश में काेराेना कर्फ्यू का असर अब दिखने लगा है। यहां 8 दिनाें में काेराेना के रिकवरी रेट में 8.04 प्रतिशत की बढ़ाेतरी हुई है। इस बीच 33,827 मरीजाें ने काेराेना काे मात दी है जाे प्रदेश के लिए राहत भरी खबर है। सक्रिय मरीजाें की संख्या में भी तेजी से कमी आई है।

13 मई काे प्रदेश में 40,008 काेराेना के सक्रिय मरीज थे जाे 20 मई काे कम हाेकर 31,801 दर्ज किए गए हैं। इसकी वजह सरकार द्वारा प्रदेश में बरती गई सख्तियां माना जा रहा है। 13 मई से काेराेना का रिकवरी रेट में हर दिन बढ़ाेतरी दर्ज की जा रही है।

प्रदेश में दोगुनी तेजी से मरीज ठीक हाे रहे हैं। 13 मई काे 2187 मरीजाें ने काेराेना काे मात दी थी। 14 मई काे यह बढ़कर 3817 हाे गई। 15 मई काे 3362, 16 मई काे 4137, 17 मई काे 4947, 18 मई काे 3760, 19 मई काे 4559 और 20 मई काे 3090 राेगियाें ने काेराेना काे हराया है। अब रिकवरी रेट 71.08 प्रतिशत से बढ़कर 79.86 प्रतिशत तक पहुंच गया है।

चिंता : हिमाचल पहुंचा ब्लैक फंगस; हमीरपुर की महिला हुई संक्रमित

प्रदेश के इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल (आईजीएमसी) में प्रदेश का पहला ब्लैक फंगस का मामला सामने आया है। नेरचौक मेडिकल कॉलेज से रेफर एक महिला में ब्लैक फंगस पाया गया है। महिला के नाक के पास ब्लैक फंगस पाया गया है। ब्लैक फंगस के लक्षण दिखते ही महिला काे अन्य मरीजाें से अलग कर दिया गया।

महिला चार मई को कोरोना पॉजिटिव पाई गई थी और बाद में आठ मई को सांस को तकलीफ के चलते हमीरपुर से नेरचौक रेफर हुई थी। 19 मई काे महिला आईजीएमसी रेफर की गई। हालांकि अब महिला की हालत स्थिर है और आईजीएमसी में उसका उपचार चल रहा है। आईजीएमसी के वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी डाॅ. जनकराज ने इसकी पुष्टि की है। उन्हाेंने कहा कि ईएनटी के चिकित्सक महिला पर नजर बनाए हुए हैं, हालांकि अभी महिला की हालत स्थित है।

खबरें और भी हैं...