• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Education Department Is Waiting For The Report Of Children Getting Infected In Dharampur's Day Boarding School, New Orders Issued, It Is The Responsibility Of The School Principal To Follow The SOP

बच्चे कोरोना संक्रमित मिले तो प्रिंसिपल जिम्मेदार:धर्मपुर में मामला सामने आने के बाद शिक्षा विभाग ने जारी किए नए आदेश, कहा- SOP का पालन नहीं किया तो कड़ी कार्रवाई होगी

शिमला4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक तस्वीर - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल प्रदेश में मंडी जिले के धर्मपुर में डे बोर्डिंग स्कूल में एक साथ 80 बच्चों के कोरोना संक्रमित मिलने के बाद शिक्षा विभाग सख्त हो गया है। सबक लेते हुए शिक्षा विभाग ने आदेश जारी किए हैं कि किसी भी तरह के शिक्षण संस्थान और डे बोर्डिंग स्कूलों में अगर बच्चे कोरोना संक्रमित पाए जाते हैं तो स्कूल के प्रिंसिपल इसके लिए जिम्मेदार होंगे। स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा की जिम्मेदारी स्कूल मुखिया की है।

शिक्षा विभाग ने अपने आदेशों में दो टूक कहा है कि जिन शिक्षण संस्थानों में कोविड प्रोटोकॉल का पालन नहीं होता है तो कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। प्रिंसिपलों को साफ कहा गया है कि अगर स्कूल और कॉलेजों में साफ-सफाई समेत सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखा जाए। छात्रों को कोरोना संक्रमण से बचाव समेत सोशल डिस्टेंसिंग का भी पाठ पढ़ाया जाए तो उन्हें संक्रमण से बचाया जा सकता है। प्रिंसिपलों को इस दिशा में कार्य करना चाहिए। अगर लापरवाही बरती गई तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

4 दिनों में धर्मपुर डे बोर्डिंग स्कूल में मिले 80 बच्चे संक्रमित

धर्मपुर क्षेत्र में डॉ. विजय मेमोरियल डे बोर्डिंग स्कूल में 80 बच्चे कोरोना संक्रमित पाए जा चुके हैं। यहां पर पिछले शनिवार संक्रमित मरीजों के मिलने का सिलसिला जारी हुआ, जो बुधवार तक चलता रहा। छोटे-छोटे पैक में यहां पर 5 दिन संक्रमित मरीजों के मिलने का सिलसिला जारी रहा और कुल 80 बच्चे संक्रमित पाए गए। इसके अलावा स्टाफ के तीन सदस्य भी संक्रमित मिले। हालांकि अभी यहां पर सभी बच्चों की हालत स्थिर है, लेकिन इतनी बड़ी संख्या में बच्चों के कोरोना संक्रमित होने से हड़कंप मच गया है।

एसओपी का पालन करवाना प्रिंसिपल की जिम्मेदारी

शिक्षा विभाग के अधिकारियों का कहना है कि स्कूल खोलने से पहले ही सभी स्कूलों को एसओपी जारी की गई थी। जिसमें यह साफ निर्देश दिए गए हैं कि स्कूलों में एसओपी का पालन करवाना स्कूल प्रिंसिपल की जिम्मेदारी होगी। ऐसे में धर्मपुर स्कूल में किस तरह की लापरवाही हुई है, इस बारे में जांच की जा रही है। अगर किसी तरह की लापरवाही मिलती है तो कार्रवाई भी की जाएगी।

खबरें और भी हैं...