पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Five Buses Without Buses Have Not Been Installed, Kai Dental Camp Will Now Be Purchased, Two Buses Will Be Treated At Home

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

राहत:बिना बसों के पांच सालाें से नहीं लग पाया है काेई डेंटल कैंप अब खरीदी जाएंगी दो बसें, घरद्वार पर होगा दांतों का इलाज

शिमला10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
राहत - Dainik Bhaskar
राहत
  • दूरदराज की पंचायतों से लोगों को नहीं आना पड़ेगा डेंटल कॉलेज, मार्च अंत तक मिल जाएगी सुविधा

दांताें का इलाज करवाने के लिए अब जिला की दूर दराज की पंचायताें में लाेगाें काे डेंटल कालेज आने की जरूरत नहीं रहेगी। उन्हें उनके घरद्वार पर ही निशुल्क दांताें का इलाज मिल सकेगा। डेंटल कालेज शिमला ग्रामीण क्षेत्राें में कैंप लगाने के लिए दाे बसाें की खरीद करेगा। प्रशासन काे मंजूरी मिल चुकी है। अब टेंडर निकाले जाएंगे।

इसमें एक बस खरीदी जाएगी, जिसमें डेंटल चेयर समेत दांताें के इलाज में काम आने वाली पूरी सुविधा रहेगी। जबकि दूसरी बस आउटसाेर्स पर ली जाएगी। इसमें डेंटल कॉलेज की टीम कैंप लगाने के लिए जाएगी। मार्च के अंत तक इन बसाें की खरीद कर दी जाएगी और अप्रैल से कैंप शुरू हो जाएंगे।

ग्रामी क्षेत्राें में बीते पांच सालाें से कैंप नहीं लग पा रहे हैं क्याेंकि यहां पर बसें नहीं थी। डेंटल कालेज शिमला में पहले दाे बसें खरीदी गई थी। मगर यह बसें खराब हाे गई थी। कई सालाें तक यह बसें डेंटल कालेज में खड़ी रही। इन्हें ठीक करवाने में काफी ज्यादा खर्चा हाेना था।

ऐसे में प्रशासन ने इन बसाें काे कंडम करने के लिए पहले सरकार से मंजूरी ली। उसके बाद इन बसाें काे वहां से उठवाया गया। उसके बाद नई बसाें की खरीद के लिए सरकार काे लिखा। अब सरकार ने मंजूरी दे दी है, जिसके बाद अब प्रशासन इन बसाें की खरीद में जुट गया है, ताकि जल्द से जल्द कैंप शुरू किए जा सकेंगे।

अभी यह आ रही समस्या

माैजूदा समय में ग्रामीण क्षेत्राें में कैंप नहीं लग पा रहे हैं। बीते पांच सालाें से एक भी कैंप ग्रामीण एरिया में नहीं लगा है। ऐसे में दांताें का इलाज करवाने के लिए या ताे लाेगाें काे निजी क्लीनिकाें में जाना पड़ता है या फिर शिमला डेंटल कॉलेज पहुंचना पड़ता है। दांताें का इलाज काफी महंगा रहता है।

ऐसे में अधिकांश लाेग अपने दांताें की कई बीमारियाें का इलाज ही नहीं करवा पाते। मगर डेंटल कॉलेज शिमला में काफी सस्ती दराें पर इलाज किया जाता है, जिससे लाेगाें काे काफी सुविधा मिलती है। ऐसे में अगर लाेगाें काे घरद्वार पर वही सुविधा मिलेगी ताे उन्हें काफी राहत मिलेगी।

छात्राें काे भी मिलेगा फायदा

जहां एक ओर ग्रामीण क्षेत्राें में कैंप लगने से लाेगाें काे सुविधा मिलेगी, वहीं डेंटल कॉलेज में पढ़ रहे स्टूडेंट्स को भी इससे काफी राहत मिलेगी। डेंटल कॉलेज में बीडीएस या एमडीएस करने वाले छात्राें काे कैंप अटेंड करना जरूरी हाेता है।

जहां उन्हें दांताें की कई तरह की बीमारियाें का पता चलता है, वहीं एग्जामिनेशन के दाैरान उन्हें इसके अलग से नंबर मिलते हैं। मगर कैंप ना लग पाने के कारण उन्हें इसमें काफी दिक्कत अाती थी। मगर अब प्रशासन जल्द ही कैंप शुरू करेगा और स्टूडेंट कैंप लगाने के लिए ग्रामीण क्षेत्राें में जाएंगे।

दाे तरह के हाेते हैं कैंप

डेंटल कॉलेज शिमला पहले भी काफी कैंप लगाता था। इसमें दाे तरह के कैंप लगते थे, जिसमें एक एग्जामिनेशन कैंप हाेता था। इसमें दांताें की केवल जांच की जाती थी और हल्का इलाज किया जाता था। सीरियस मरीजाें काे इलाज के लिए डेंटल कॉलेज शिमला रेफर किया जाता था।

शिमला शहर के स्कूलाें में अभी भी ऐसे कैंप लगाए जा रहे हैं। जबकि दूसरे ट्रीटमेंट कैंप हाेते हैं, जाे अभी बंद हैं। ट्रीटमेंट कैंप में मरीजाें का पूरा इलाज घरद्वार पर किया जाता था। इसके लिए बसाें की जरूरत रहती है, क्याेंकि इसमें स्टाफ ज्यादा जाता है।

सरकार से बसाें की खरीद के लिए मंजूरी मिल चुकी है। इसमें एक नई बस की खरीद की जाएगी, जिसमें डेंटल चेयर समेत सभी इंस्टूमेंट हाेंगे, जिनसे दांताें का इलाज किया जाएगा। जबकि दूसरी बस काे आउटसाेर्स पर लिया जाएगा। इसमें कैंप लगाने के लिए स्टाॅफ जाएगा। जल्द ही इसके टेंडर किए जाएंगे। जैसे ही बसाें की खरीद हाेगी, कैंप शुरू कर दिए जाएंगे।
-डाॅ. आशु गुप्ता, प्रिंसिपल डेंटल कॉलेज शिमला

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज जीवन में कोई अप्रत्याशित बदलाव आएगा। उसे स्वीकारना आपके लिए भाग्योदय दायक रहेगा। परिवार से संबंधित किसी महत्वपूर्ण मुद्दे पर विचार विमर्श में आपकी सलाह को विशेष सहमति दी जाएगी। नेगेटिव-...

    और पढ़ें