• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Five Heliports Of The State Are Ready At A Cost Of 50 Crores, Udan 2 Will Start On All Of Them From November 30, Tourism Will Take Wings

एयर कनेक्टीविटी:50 करोड़ की लागत से पांच हेलीपोर्ट बनकर तैयार, सभी पर 30 नवंबर से शुरू होगी उड़ान-2, पर्यटन को लगेंगे पंख

शिमला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शिमला के संजौली में बना हेलीपोर्ट। - Dainik Bhaskar
शिमला के संजौली में बना हेलीपोर्ट।
  • शिमला, बद्दी, रामपुर, मंडी के कंगनीधार और मनाली के लिए होंगी उड़ानें

प्रदेश में करीब 50 कराेड़ रुपए की अधिक की लागत से प्रदेश में पांच अलग अलग जगहाें पर बनाए जा रहे हेलीपोर्ट अब बनकर तैयार हाे गए हैं। इसमें शिमला के संजाैली सहित इंडस्ट्रियल एरिया बद्दी, रामपुर, मंडी कंगनीधार और मनाली में बनाए गए हेलीपोर्ट उड़ान-दाे सेवा के लिए तैयार हैं। पर्यटन विभाग इन पांचाें हेलीपोर्ट पर 30 नवंबर को एक साथ उड़ान- दाे के तहत हेलिकॉप्टर की पहली लैंडिंग करवाई जाएगी। यह उड़ान चंडीगढ़ से करवाई जाएगी।

पर्यटन विभाग ने इसकी तैयारियां शुरू कर दी हैं। विभाग इन दिनाें इन पांचाें हेलीपोर्ट काे इस्तेमाल में लाने के लिए यहां पर रह गई छाेटी-माेटी कमियाें काे पूरी करने में जुटा है। विभाग के अनुसार ताे उड़ान दाे के तहत प्रदेश काे अपनी सेवाएं दे रहा पवनहंस ने विभाग काे इन हेलीपोर्ट पर हेलीकॉप्टर की लैंडिंग करवाने के लिए संपर्क साधा है। विभाग भी इसके लिए पूरी तरह से तैयार है। शिमला के संजाैली में बनाए गए हेलीपोर्ट पर सुरक्षा जाली लगाना शेष रह गया था जिसे अब पूरा कर दिया गया है।

बद्दी सहित दूसरे अन्य पांच हेलीपोर्ट पर बिल्डिंग का काम शेष रह गया है लेकिन यह चाराें हेलीपोर्ट हेलीकाप्टर की लैंडिंग के लिए तैयार हैं। एक साथ पांचाें हेलीपोर्ट पर उड़ान-दाे के तहत हेलिकॉप्टर की उड़ानें शुरू हाेने से न केवल क्षेत्रीय कनेक्टिविटी काे बढ़ावा मिलेगा बल्कि इससे प्रदेश में पर्यटन काे भी पंख लगेंगे।

लाेग कम समय में प्रदेश के इन पांचाें स्थलाें पर आसानी से पहुंच सकेंगे। औद्याेगिक क्षेत्र बद्दी मे बना हेलीपोर्ट निवेश काे बढ़ावा देने के लिए काफी मददगार साबित हाेगा। इससे उद्यमियों काे कम समय में यहां पर आने-जाने की सुविधा मिल सकेगी। प्रधान सचिव पर्यटन सुभाषीश पांडा ने कहा कि हेलीपोर्ट बनकर तैयार हो चुके हैं। संभवत: इसी महीने के अंत में या फिर दिसंबर के पहले सप्ताह में हेली टैक्सी सेवा शुरू हो सकती है।

अभी तीन रूटाें पर चली रही है उड़ान-2 की सेवा
प्रदेश में अभी तीन रूटाें पर उड़ान दाे के तहत हेलिकॉप्टर की सेवा शुरू की गई है। इसमें चंडीगढ़ से शिमला, कुल्लू और धर्मशाला रूट पर हेलिकॉप्टर उड़ान भर रहा है। 30 नवंबर से चार और नए रूटाें पर हेलिकॉप्टर उड़ान भरेंगे। शिमला आने वाले पर्यटकाें के लिए राहत की बात यह है कि उन्हें अब चंडीगढ़ से जुब्बड़हट्टी एयरपाेर्ट पर लैंड नहीं करना पड़ेगा। यह शिमला से करीब 27 किमी दूर है। अब वे संजाैली हेलीपोर्ट पर लैंड करेंगे। जहां से शिमला महज 5 किमी की दूरी पर है।

किराया कितना होगा, चल रहा है मंथन
उड़ान दाे के तहत हेलिकॉप्टर का किराया अभी तय किया जाना है। इस पर मंथन चल रहा है। अभी हेली टैक्सी का शिमला से चंडीगढ़ का किराया 3600 रुपए,चंडीगढ़ से कुल्लू के भुंतर का किराया 6500 रुपए, चंडीगढ़ से धर्मशाला के गग्गल का किराया 5700 रुपए, शिमला से कुल्लू का किराया 4000 रुपए और शिमला से धर्मशाला का किराया 5000 रुपये प्रति व्यक्ति है। हेली टैक्सी शिमला-चंडीगढ़ के बीच सप्ताह में छह दिन (रविवार छोड़कर) चल रही है। धर्मशाला के गगल एयरपोर्ट के लिए मंगलवार, बुधवार, वीरवार और कुल्लू के भुंतर एयरपोर्ट के लिए सोमवार, शुक्रवार और शनिवार को हेली टैक्सी की सुविधा है।

शिमला सहित बद्दी, रामपुर, मंडी और मनाली में हेलीपोर्ट उड़ान-दाे सेवा के लिए तैयार हैं। पांचाें हेलीपोर्ट पर 30 नवंबर काे एक साथ उड़ान-दाे सेवा शुरू करने की तैयारी चल रही है। किराया और समय तय होना है। अमित कश्यप, निदेशक पर्यटन विभाग

खबरें और भी हैं...