• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Forest Department Installed CCTV Cameras, Gave 1 Lakh To The Family Of The Deceased Girl, Will Give Three Lakh More Now

आदमखाेर तेंदुए काे मारने के आदेश:वन विभाग ने लगाए सीसीटीवी कैमरे, मृतक बच्ची के परिवार को 1 लाख दिए, अभी तीन लाख और देंगे

शिमला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
तेंदुए को पकड़ने के लिए वन विभाग ने लगाया पिंजरा। - Dainik Bhaskar
तेंदुए को पकड़ने के लिए वन विभाग ने लगाया पिंजरा।

शिमला के कनलाेग में पांच साल की बच्ची काे अपना शिकार बनाने वाला आदमखाेर तेंदुआ अब भी पकड़ से बाहर है। तेंदुए काे मारने के आदेश दे दिए गए हैं, लेकिन वन विभाग की टीम काे लगातार दूसरे दिन भी तेंदुआ नहीं मिला। शनिवार सुबह से ही वन विभाग की टीम ने घने जंगल में अपना सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया था। दूसरी ओर मृतक बच्ची के परिवार काे वन विभाग की ओर से चार लाख रुपए दिए जाएंगे। पहली किश्त के ताैर पर एक लाख रुपए की राशि परिवार काे दे दी गई है।

कनलोग इलाके में होंडा शोरूम के साथ लगती जमीन पर यहां पर एक भवन के निर्माण का काम चल रहा है। यहां कई मजदूरों के अस्थायी घर हैं। बच्ची यहां पर अपने दादा दादी के साथ रहती थी। उसके माता पिता गांव गए हुए थे। वीरवार की रात लगभग साढ़े आठ बजे बच्ची शाैच करने के लिए जैसे ही बाहर आई, तेंदुआ उसे उठा ले गया। इस घटना से इलाके में हड़कंप मच गया। शिमला शहर में कई जगह घनघाेर जंगल हैं। ऐसे में शहर के चायली, गिरव, समरहिल, भराड़ी, दूधली, नवबहार, जाखू, बड़श, कनलाेग और शहर के अन्य उपनगराें में तेंदुआ दिख चुका है।

तेंदुए को पकड़ने के लिए लगाया पिंजरा
वन विभाग के एआरओ एलआर चाैहान का कहना है कि हमने सीसीटीवी कैमरे लगाए हैं, ताकि अगर फिर से तेंदुआ इस इलाके में आए ताे इसकी लाेकेशन का पता लग सके। तेंदुआ जिस जगह शिकार करता है, वहां पर उसके लिए और शिकार माैजूद हाे ताे वह वहां पर दाेबारा आता है। जिस इलाके में तेंदुए ने बच्ची पर हमला किया, यहां पर रहने वाले कुछ लाेगाें ने कुत्ते भी पाल रखे हैं। ऐसे में वह फिर से यहां आ सकता है। तेंदुए को पकड़ने के लिए यहां पिंजरा भी लगाया गया है।

खबरें और भी हैं...