पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पुलिस को मिली कामयाबी:आईजीएमसी शिमला से फरार हुआ गैंगस्टर गुरमिंदर कांसल के एक तबेले में छिपा मिला

शिमला5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 2018 में नालागढ़ में स्कूल प्रिंसिपल के मर्डर का भी आरोपी है

आईजीएमसी शिमला से 3 अप्रैल को पुलिस मुलाजिमों को चकमा देकर फरार होने वाले गैंगस्टर गुरमिंदर को मोहाली के कांसल से पुलिस ने पकड़ लिया है। वह एक तबेले मंे छिपा हुआ था। समराला लुधियाना का रहने वाला गुरमिंदर वर्ष 2018 में नालागढ़ में एक प्राइवेट स्कूल के प्रिंसिपल का मर्डर व उसके घर पर डकैती डालने का भी आरोपी है।

3 अप्रैल को गुरमिंदर को नाहन पुलिस के कांस्टेबल विवेक व संदीप मेडिकल चेकअप के लिए संेट्रल जेल नाहन से शिमला आईजीएमसी लेकर गए थे, वहां से वह दोनांे मुलाजिमांे को चकमा देकर फरार हो गया था। सिरमौर एएसपी बबीता राणा ने बताया कि जिन मुलाजिमों को चकमा देकर गुरमिंदर फरार हुआ था उन दोनों को सस्पेंड कर दिया गया है।

बहन ने छिपाया था

अभी तक की जांच में सामने आया है कि गुरमिंदर की एक शादीशुदा बहन मोहाली टीडीआई सिटी में रहती है। उसी ने गुरमिंदर को कांसल में छिपाया था।

कब्रिस्तान में गुजारी पहली रात

पूछताछ में आरोपी ने बताया कि आईजीएमसी से भागने के बाद वह लिफ्ट लेते हुए मुख्य सड़क तक पहुंचा और फिर सीटीयू में चंडीगढ़ के लिए बैठ गया। उसने कंडक्टर को झूठ कहा कि वह चंडीगढ़ से शिमला अपने साथियों के साथ घूमने के लिए आया था।

यहां उसका माेबाइल व अन्य सामान चोरी हो गया व उसके साथी उससे बिछड़ गए। अब उसके पास एक भी रुपया नहीं है। इस पर पास के एक व्यक्ति ने उसका किराया दे दिया। चंडीगढ़ से कांसल पहंुचा। वहां पहली रात कब्रिस्तान में गुजारी।

आईजीएमआईसी से फरार हुए गैंगस्टर को जाॅइंट ऑपरेशन के बाद मोहाली कांसल स्थित एक तबेले से गिरफ्तार कर लिया है। वह वहां छिपा था आैर आगे निकलने की फिराक मंे था। दोनों पुलिस मुलाजिमों को सस्पेंड कर दिया गया है।
-बबीता राणा, एएसपी सिरमौर

खबरें और भी हैं...