• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Government Records Kept In Forest Corporation Depot Destroyed Due To Haphazardly Parked Vehicles Fire Brigade Could Not Reach

मंडी में लकड़ी के डिपो में लगी भीषण आग:वन निगम का सरकारी रिकॉर्ड जलकर राख; बेतरतीब तरीके से पार्क किए गए वाहनों की वजह से नहीं पहुंच पाई फायर ब्रिगेड

शिमला/मंडी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मंडी में खलियारा वार्ड में बना वन निगम का लकड़ी का डिपो धू-धू कर जलता हुआ। - Dainik Bhaskar
मंडी में खलियारा वार्ड में बना वन निगम का लकड़ी का डिपो धू-धू कर जलता हुआ।

हिमाचल प्रदेश के मंडी शहर के खलियार वार्ड में स्थित वन निगम के लकड़ी के डिपो में भीषण आग लग गई। आग में डिपो और उसमें बने 4 कमरे पूरी तरह से जलकर राख हो गए। वहीं डिपो में रखा वन निगम का सरकारी रिकॉर्ड भी खाक हो गया। दमकल विभाग के कर्मचारी आग पर काबू पाने के लिए मौके पर पहुंचे, लेकिन रास्ते में पार्क किए गए वाहनों की वजह से टीम को घटनास्थल तक पहुंचने में दिक्कत हुई। आग लगने की प्रारंभिक वजह शॉर्ट सर्किट मानी जा रही है। फिलहाल मामला दर्ज कर लिया गया है।

मिली जानकारी के अनुसार, आगजनी की घटना सुबह करीब सवा 9 बजे घटी। लकड़ी डिपो कार्यालय के प्रभारी राम सिंह अन्य कर्मियों के साथ जैसे ही कार्यालय पहुंचे तो उन्हें साथ वाले कमरे से धुआं उठता दिखाई दिया। इसके बाद उन्होंने अपने कमरे में मौजूद सामान को बाहर निकालने का कार्य शुरू कर दिया और फायर ब्रिगेड को आग लगने की सूचना दी। राम सिंह और अन्य कर्मचारी कुछ सामान को बाहर निकालने में कामयाब हुए, लेकिन बाद में आग ने विकराल रूप धारण कर लिया और चार कमरों का भवन धू-धूकर जल उठा। मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड की गाड़ियों ने कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया।

घटनास्थल के पास बेतरतीब तरीके से पार्क किए गए वाहन की वजह से फंसी दमकल गाड़ी।
घटनास्थल के पास बेतरतीब तरीके से पार्क किए गए वाहन की वजह से फंसी दमकल गाड़ी।

कार्यालय में रखा रिकॉर्ड जलकर राख

लकड़ी डिपो के कार्यालय प्रभारी एवं वन रक्षक राम सिंह ने बताया कि अग्निकांड में कार्यालय में रखा रिकॉर्ड और अन्य सामान जलकर राख हो गया है। 4 कमरे पूरी तरह से जलकर नष्ट हो गए। वहीं यहां पर स्टोर में कुछ लकड़ी और तेजाब भी रखा था, जो जलकर नष्ट हो गए हैं। वहीं पुलिस ने घटना संबंधी मामला दर्ज करके कार्रवाई शुरू कर दी है। बता दें कि यह भवन करीब 40 साल पुराना है। प्रारंभिक तौर पर अग्निकांड का कारण शॉर्ट सर्किट माना जा रहा है।

चार कमरों में रखा सारा रिकॉर्ड जलकर हो गया राख।
चार कमरों में रखा सारा रिकॉर्ड जलकर हो गया राख।

बेतरतीब पार्क किए वाहन बने मुसीबत

आग बुझाने के लिए आई फायर ब्रिगेड को घटनास्थल तक पहुंचने में बेतरतीब ढंग से खड़े किए वाहनों के कारण परेशानी झेलनी पड़ी। लोगों में इस बात को लेकर आक्रोश था कि कुछ लोगों ने बीच सड़क पर वाहनों का बेतरतीब ढंग से पार्क कर रखा है। जिससे दमकल वाहन को घटनास्थल पर पहुंचने में काफी समय लग गया। लोगों का कहना है कि अगर यह हादसा कहीं और हुआ होता और अगर इस हादसे में इमारत के भीतर कर्मचारी फंसे होते तो लोगों की इस लापरवाही की वजह से उनकी जान जा सकती थी। प्रशासन को चाहिए कि वह ऐसी जगहों पर बेतरतीब तरीके से पार्क किए गए वाहनों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करे।

खबरें और भी हैं...