पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

उपनगर टुटू की घटना:दूसरे से अकाउंट का बैलेंस चेक करवाना पड़ा भारी, असली एटीएम कार्ड अपने पास रख नकली दिया

शिमला23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
हरियाणा के हिसार के रहने वाले राेशन लाल और उसके बेटे अमनदीप को पुलिस ने ठगी के मामले में पकड़ा है। - Dainik Bhaskar
हरियाणा के हिसार के रहने वाले राेशन लाल और उसके बेटे अमनदीप को पुलिस ने ठगी के मामले में पकड़ा है।
  • बाद में खाते से निकले 42 हजार
  • दिल्ली नंबर की गाड़ी से आए थे तीन लाेग, सीसीटीवी में कैद हुए
  • हिसार के रहने वाले पिता बेटा गिरफ्तार

टुटू में ठगी का एक मामला सामने आया है। यहां पर एक व्यक्ति काे अनजान व्यक्ति से अपने एटीएम का बैलेंस चेक करवाना भारी पड़ा। शातिर ने एटीएम बदलकर उक्त व्यक्ति काे हजाराें रुपए का नुकसान पहुंचा दिया। इस मामले में पुलिस ने कार्रवाई करते हुए दाे लाेगाें काे गिरफ्तार किया है।

आरोपी हरियाणा के हिसार के रहने वाला राेशन लाल और उसका बेटा अमनदीप हैं। फिलहाल तीसरे आराेपी की पुलिस काे तलाश है। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस ने दाेनाें आराेपियाें काे गिरफ्तार किया है। ये हरियाणा भागने की फिराक में थे, लेकिन गुप्त सूचना के आधार पर इन्हें टुटू में ही एक दुकान से पकड़ा है।

इनकाे पकड़ने में आईओ राजकुमार ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। जानकारी के अनुसार शोघी निवासी नंदलाल ने पुलिस थाना बालूगंज में शिकायत दर्ज करवाई कि वह टुटू में एसबीआई के एटीएम में 6 जुलाई को गया था। तभी तीन लोग एक गाड़ी नंबर डीएल-1 एसीडी-8197 में बैठ कर आए और एटीएम में घुस आए।

उनमें से एक युवक काे मैंने अपना बैलेंस चेक करने के लिए एटीएम दे दिया। बैलेंस चैक करने के बाद उक्त शातिर ने एटीएम बदल लिया। बाद में पता चला कि खाते से 42 हजार रुपए निकाले गए हैं। एसपी शिमला माेहित चावला का कहना है कि दाे लाेगाें काे इस मामले में गिरफ्तार कर लिया गया है।

एटीएम जाएं तो इन बातों को ध्यान रखें

  • खुद ही अपना एटीएम यूज करें
  • कार्ड पर अपना पिन नंबर कभी न लिखें। हमेशा उसे याद रखें।
  • अनजान लोगों से एटीएम ट्रांजैक्शन में मदद न लें या फिर किसी अन्य को ट्रांजेक्शन के लिए कार्ड न दें।
  • किसी भी शख्स को अपना एटीएम पिन न बताएं। यहां तक कि बैंक कर्मचारी और फैमिली मेंबर्स को भी यह जानकारी न दें।
  • पेमेंट के दौरान कार्ड पर पूरी नजर रखें और उसे नजरों से ओझल न होने दें।
  • ट्रांजेक्शन के दौरान मोबाइल फोन पर बात करने से बचें।
  • एटीएम ट्रांजेक्शन के दौरान पूरी प्रिवेसी रखें। यह सुनिश्चित करें कि एटीएम मशीन में पिन नंबर दर्ज करते वक्त कोई देख न रहा हो।
  • ट्रांजेक्शन के बाद यह देखें कि मशीन में वेलकम स्क्रीन आ गई हो। उससे पहले मशीन न छोड़ें।
  • यह सुनिश्चित करें कि आपका मौजूदा मोबाइल नंबर बैंक में रजिस्टर्ड हो। इससे आपको बैंक से सभी ट्रांजैक्शंस के अलर्ट मिल सकेंगे।
  • एटीएम के पास लोगों की संदेहास्पद मूवमेंट पर नजर रखें और अनजान लोगों से बातचीत में व्यस्त होने से बचें।
खबरें और भी हैं...