डेल्टा और बी-वन वैरियंट के कारण नहीं थम रहा संक्रमण:स्वास्थ्य विभाग ने कहा- हिमाचल में तीसरी लहर में 60 हजार मरीज बढ़ने की उम्मीद

शिमलाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

प्रदेश में डेल्टा और बी-वन वैरियंट के चलते काेराेना संक्रमण के मामलाें में कमी नहीं आ रही है। प्रदेश में इस समय डेल्टा के 95 और बी-वन के 3 केस हैं। वहीं साेशल गेदरिंग भी इस संक्रमण काे कम हाेने से राेक रही है। दिल्ली भेजी गई सिराे सर्वे की रिपाेर्ट में और खुलासा हाेगा कि प्रदेश में अलग-अलग वैरियंट के और कितने मामले हैं। स्वास्थ्य विभाग तीसरी लहर में 60 हजार से ज्यादा काेराेना मरीजाें के आने का अनुमान लगा रहा है।

इससे निपटने को विभाग ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। 11000 ऑक्सीजन युक्त बिस्तराें और 1400 कर्मचारियाें काे ट्रेंड किया गया है। इसके अलावा 1080 आईसीयू की व्यवस्था की जा रही है। स्वास्थ्य विभाग का अनुमान है कि काेराेना की तीसरी लहर में प्रदेश में ऑक्सीजन की 65 मीट्रिक टन तक खपत बढ़ सकती है। 11 प्लांट पहले ही एक्टिव कर दिए गए है। 11 प्लांट और क्रियाशील बनाए जा रहे हैं।

स्वास्थ्य सचिव हर दिन ले रहे हैं फीडबैक
अक्टूबर में काेराेना संक्रमण की तीसरी लहर काे लेकर विभाग काफी सतर्क हाे गया है। स्वास्थ्य सचिव अमिताभ अवस्थी हर दिन जिलाें के सीएमओ से तैयारियाें की फीडबैक ले रहे हैं। स्वास्थ्य सचिव अमिताभ अवस्थी ने माना कि काेराेना की तीसरी लहर दूसरी लहर के मुकाबले कम खतरनाक हाे होगी क्याेंकि प्रदेश में शत प्रतिशत लाेगाें काे काेविड वैक्सीन लग चुकी है।

खबरें और भी हैं...