• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Himachal AAP Can Get New Faces Today, State Presidents And All Wings President Deployment Is Possible, Manish Sisodia May Announce,

AAP की कार्यकारिणी का विस्तार लटका:अब कुछ दिन बाद होगी प्रदेशाध्यक्ष समेत सभी विंग के अध्यक्ष की तैनाती

शिमला9 महीने पहले
दिल्ली के डिप्टी CM मनीष सिसोदिया के साथ संवाद कार्यक्रम में मौजूद अभिभावक और शिक्षक।

हिमाचल में आम आदमी पार्टी (AAP) की कार्यकारिणी का विस्तार फिलहाल कुछ दिन के लिए टाल दिया गया है। पार्टी द्वारा जारी प्रोग्राम के मुताबिक प्रदेशाध्यक्ष समेत सभी विंगों के अध्यक्षों का आज ऐलान दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने करना था। सूत्र बताते हैं कि प्रदेशाध्यक्ष की घोषणा से पहले मनीष सिसोदिया खुद अरविंद केजरीवाल से चर्चा करना चाह रहे हैं।

अभी AAP बिना राज्य कार्यकारिणी के आगे बढ़ रही है। AAP के पूर्व अध्यक्ष अनूप केसरी, महिला विंग की अध्यक्ष ममता ठाकुर समेत कई पदाधिकारियों के BJP में शामिल होने के बाद राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने हिमाचल प्रदेश में पूरी कार्यकारिणी को भंग कर दिया था। इसलिए पार्टी की आज नए चेहरे घोषित करने की योजना थी। इसे लेकर पार्टी द्वारा बाकायदा एक सर्कुलर भी जारी किया गया था।

शिमला में संवाद कार्यक्रम में मनीष सिसोदिया
शिमला में संवाद कार्यक्रम में मनीष सिसोदिया

हिमाचल की सिसायत में तपिश ला गए सिसोदिया

हिमाचल दौरे पर आए मनीष सिसोदिया ने हिमाचल की राजनीति में उबाल ला दिया है। छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों से संवाद करने शिमला पहुंचे सिसोदिया ने हिमाचल सरकार पर तीखे हमले किए हैं। उन्होंने हिमाचल की शिक्षा पर कई गंभीर सवाल उठाए हैं। विधानसभा चुनाव से पहले मनीष सिसोदिया ने कार्यकर्ताओं में नई ऊर्जा का संचार किया है।

अब तक AAP से नहीं जुड़ा कोई बड़ा नेता

हिमाचल प्रदेश में अब तक AAP में कोई बड़ा नेता से नहीं जुड़ा है। हालांकि मार्च व अप्रैल में अरविंद केजरीवाल की मंडी और कांगड़ा रैली के दौरान कई कांग्रेस व भाजपा नेताओं के AAP में जाने की चर्चाएं रहीं, लेकिन कोई भी बड़ा नेता अब तक पार्टी में शामिल नहीं हुआ है। मसलन पार्टी को मौजूदा नेताओं में ही किसी को अध्यक्ष चुनना होगा।

आपस में बहस गए AAP कार्यकर्ता

मनीष सिसोदिया के संवाद कार्यक्रम के दौरान कुछ आम आदमी पार्टी कार्यकर्ता आपस में बहस गए। इनका आरोप हैं कि उन्हें मनीष सिसोदिया से मिलने नहीं दिया गया। कुछ कार्यकर्ताओं ने यह भी आरोप लगाए कि भ्रष्ट लोगों को पार्टी में जगह दी जा रही है। बाद में आप नेताओं ने उन्हें शांत किया।