प्रदेश में उद्योगों के लगने की रफ्तार कम:3 साल में हिमाचल में 1411 नए उद्योग लगे, इसमें 1237 सूक्ष्म उद्योग शामिल

शिमला9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रदेश में उद्योगों के लगने की रफ्तार कम - Dainik Bhaskar
प्रदेश में उद्योगों के लगने की रफ्तार कम

कोरोना संक्रमण के चलते प्रदेश में उद्योगों के लगने की रफ्तार कम हुई है। इसमें तेजी लाने के लिए राज्य सरकार ने अपने प्रयास तेज कर दिए हैं। उद्योग विभाग की एक रिपोर्ट के अनुसार प्रदेश में पिछले 3 सालों के भीतर 1411 नए उद्योग लगे हैं। इन उद्योगों में प्रदेश में रोजगार भी मिला है। इससे पहले के सालों में राज्य में औद्योगिक रफ्तार ज्यादा थी मगर अब धीरे-धीरे यह आंकड़ा कम होता जा रहा है।

कोरोना काल में इस क्षेत्र को बड़ा झटका यहां पर लगा है फिर भी सरकार के प्रयास लगातार चल रहे हैं। सरकार 10 हजार करोड़ की दूसरी ग्राउंड ब्रेकिंग करने की तैयारी में प्रदेश में निवेश को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार ने अपने प्रयास तेज कर दिए हैं। सरकार सिर दूसरी ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी की तैयारी में है। 10 हजार करोड़ रुपए का निवेश की संभावना है।

इससे पहले सरकार का दावा है कि यहां पर 14 हजार करोड़ रुपए का निवेश आया है। विभाग की रिपोर्ट के अनुसार हिमाचल में पिछले तीन साल में जनवरी 2021 तक कुल 1411 उद्योग लगे हैं जिनमें से 1237 सूक्ष्म उद्योग, 163 लघु उद्योग, 01 मध्यम उद्योग तथा 10 बड़े उद्योग स्थापित किए गए हैं। इन उद्योगों में से कृषि उपज पर आधारित 74 उद्योग हैं जिनमें उत्पादन भी शुरू हो चुका है।

जिलावार आंकड़ों की बात करें तो बिलासपुर में 261 उद्योग, चंबा में 24 उद्योग, हमीरपुर में 148 उद्योग, कुल्लू में 91 उद्योग, किन्नौर में 8, लाहौल स्पीति में 11, कांगड़ा में 282, मंडी में 29, सिरमौर में 100, सोलन में 162, शिमला में 129 तथा ऊना जिला में 166 नए उद्योग धंधे स्थापित किए गए हैं।

खबरें और भी हैं...