बढ़ते कोरोना से चिंता:हिमाचल में एक दिन में सबसे ज्यादा 40 माैतें, 3040 नए पॉजिटिव केस

शिमला6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राज्य में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा बैठक लेते सीएम जयराम ठाकुर। - Dainik Bhaskar
राज्य में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा बैठक लेते सीएम जयराम ठाकुर।
  • तीन दिन में 104 मौतें, लगातार बढ़ रहा पॉजिटिव का आंकड़ा, रिकवरी रेट गिरकर 80.03% पहुंचा

हिमाचल प्रदेश में कोरोना वायरस और विकराल रूप धारण कर रहा है। इस वायरस से मौतों का आंकड़ा हर दिन बढ़ता जा रहा है। कोरोना संक्रमित मरीजाें की संख्या ही नहीं बल्कि मरने वाले लाेगाें का आंकड़ा भी दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है। तीन दिनों में प्रदेश में कोरोना से 104 लोगों की मौत हो गई।

पिछले 24 घंटे के दौरान राज्य में कोरोना वायरस से जूझते हुए 40 और मरीजों ने दम तोड़ दिया। कांगड़ा जिले में सबसे ज्यादा 17 मरीजों ने दम तोड़ा है। वहीं, शिमला जिले में 8, मंडी में 5, बिलासपुर व सोलन में 3-3 और चंबा व सिरमौर में 2-2 मरीजों की मौत हुई है। प्रदेश में कोरोना वायरस से अब तक 1447 मरीजों की मौत हो चुकी है। उधर, प्रदेश में पिछले 24 घंटे के दौरान राज्य में कोरोना वायरस के 3040 नए मामले पाजिटिव आए हैं। कांगड़ा जिले में 610 नए मामले आए हैं।

सोलन जिले में 539, शिमला जिले में 412, मंडी में 307, सिरमौर में 291, बिलासपुर में 215, हमीरपुर में 193, चंबा में 192, लाहौल-स्पीति में 93, कुल्लू व ऊना में 82-82 और किन्नौर में 24 मामले कोरोना पॉजिटिव आए हैं। कोरोना वायरस के अब तक 96929 मामले हो चुके हैं। इनमें से अब तक 77576 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। वीरवार को इस रोग से 1241 मरीज ठीक हुए हैं। कोरोना वायरस के 17835 एक्टिव केस हैं। काेराेना का रिकवरी रेट भी गिरने लगा है। वीरवार को रिकवरी रेट 80.03 प्रतिशत पहुंच गया है।

सीएम ने कहा- कोविड ड्यूटी में तैनात डॉक्टर्स को मिलेगा इंसेंटिव

मुख्यमंत्री ने कहा कि काेराेना के बढ़ते मामलाें काे देखते हुए प्राइवेट हाॅस्पिटल की भी सेवाएं ली जाएगी। कांगडा के सिटी हाॅस्पिटल, विवेकानंद अपाेलाे और बालाजी हाॅस्पिटल काे काेविड के मरीजाें के लिए इस्तेमाल में लाने का निर्णय लिया है। आयुर्वेद काॅलेज पपराेला में 200 बिस्तराें की व्यवस्था की जाएगी। पराैर में राधा स्वामी सत्संग में 200 बिस्तराें का प्रंबध किया जाएगा। काेविड ड्यूटी पर तैनात डाॅक्टर्स काे इंसेंटिव भी दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री से 5000 डी-टाइप ऑक्सीजन सिलेंडर और 3000 बी-टाइप ऑक्सीजन सिलेंडर देने का आग्रह किया है, ताकि कहीं कमी न हो।

खबरें और भी हैं...