टिंबर ट्रेल रोपवे हादसे की जांच के आदेश:CM ने किया हवाई दौरा; बचाव कार्य में देरी की बात मानी, खराब मौसम को बताया वजह

शिमला2 महीने पहले
टिंबर ट्रेल ट्राली में फंसे लोगों को रस्सी से रेस्क्यू करते हुए। - Dainik Bhaskar
टिंबर ट्रेल ट्राली में फंसे लोगों को रस्सी से रेस्क्यू करते हुए।

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि परवाणु टिंबर ट्रेल हादसे के कारणों की जांच की जाएगी। उन्होंने कहा कि किन कारणों से हादसा हुआ है। इसका पता लगाया जाएगा ताकि भविष्य में इस तरह की घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो।रा

जयराम ठाकुर ने कहा कि आने वाले समय में रोपवे में सेफ्टी मीजर अपनाने के निर्देश दिए जाएंगे। रोपवे की फिटनेस के लिए जो जरूरी होगा, वह किया जाएगा। रोवपे में लोगों की सुरक्षा के लिए जरूरी पग उठाए जाएंगे। उन्होंने बताया कि मौसम खराब होने से राहत एवं बचाव कार्य में कुछ देरी हुई है।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर।
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर।

इसी तरह कुछ लोग रस्सी उतरने में घबराहट महसूस कर रहे थे। इस वजह से भी रेस्क्यू में विलंब हुआ है। हादसे के बाद CM ने ट्राली में फंसे लोगों से बात की और उनका कुशल क्षेम भी जाना। उन्होंने टिंबर ट्रेल होटल प्रबंधन से हादसे के कारणों की जानकारी जुटाई।

गौरतलब है कि पहाड़ी राज्य हिमाचल के कई क्षेत्रों में रोपवे स्थापित किए जा चुके हैं और कई स्थानों पर इन्हें लगाने का काम पाइप लाइन में है। इनमें तकनीकी खराबी आने पर हर वक्त हादसा होने का भय बना रहता है। इसलिए टिंबर ट्रेल जैसे हादसों की पुनरावृत्ति रोकना सरकार और प्रशासन के समक्ष चुनौतीपूर्ण रहेगा।

गृह मंत्री से भी हुई बात: जयराम

इससे पहले मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने केंद्रीय गृह मंत्री शाह को फोन कर टिंबर ट्रेल हादसे को सूचना दी और NDRF की बटालियन भेजने का आग्रह किया। तब अमित शाह ने एयर फोर्स भेजने को भी कह दिया था, लेकिन तब तक सभी लोगों को सुरक्षित रेस्क्यू किया जा चुका था।

सेफ्टी ऑडिट को लेकर उठ रहे सवाल

इस हादसे के बाद सोशल मीडिया पर लोग सेफ्टी ऑडिट को लेकर सवाल उठा रहे हैं। लोगों का कहना है कि ज़िला प्रशासन की ओर से सेफ्टी के इंतज़ाम जांचने के लिए कोई कदम नहीं उठाए जाते हैं, जबकि ऐसे रोपवे की समय समय पर जांच जरूरी है। ट्राली में फंसे लोगों ने भी इस पर गंभीर सवाल खड़े किए हैं।

हमीरपुर से टिंबर ट्रेल पहुंचे CM

टिंबर ट्रेल हादसे से पहले मुख्यमंत्री हमीरपुर में एक कार्यक्रम में थे। हादसे की सूचना मिलते ही वह परवाणु के लिए निकले। इस अवसर पर प्रदेश भाजपा सह प्रभारी संजय टंडन, शिमला लोकसभा क्षेत्र के सांसद एवं प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुरेश कश्यप, अन्य भाजपा पदाधिकारी, DC सोलन कृतिका कुलहरी, SP सोलन वीरेन्द्र शर्मा, NDRF के अधिकारी एवं कर्मचारी और अन्य विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहें।