हिमाचल यूनिवर्सिटी टीचर करेंगे आंदोलन:पेपर चेकिंग न करने की चेतावनी दी, बोले- यूजीसी पे स्केल जल्द जारी हो

शिमला3 महीने पहले
हपुटवा के महासचिव डाॅ. जोगिन्दर सकलानी।

हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी शिक्षक कल्याण संघ (HPUTWA) के बैनर तले अब टीचर भी सरकार और प्रशासन के खिलाफ आंदोलन करेंगे। सरकार द्वारा शिक्षकों को यूजीसी वेतनमान नहीं देने के खिलाफ आंदोलन का फैसला लिया है। यही नहीं, आने वाले दिनाें में एंट्रेंस टेस्ट के पेपर भी चेक न करने की चेतावनी दी है। हपुटवा की आपात बैठक में फैसला लिया गया है। एचपीयू कैंपस में शिक्षक अपनी मांग काे लेकर अब हर रोज दो घंटें की गेट मीटिंग कर रोष जताएंगे। इस दौरान वह कोई भी काम नहीं करेंगे।

हपुटवा के महासचिव डॉ. जोगिंदर सकलानी ने बताया कि अगर सरकार ने शिक्षकों की मांग को पूरा नहीं किया तो आंदोलन को तेज किया जाएगा। कुछ अफसर अपने फायदे के लिए यूनिवर्सिटी के शिक्षकों के साथ अन्याय कर रहे हैं। उनका कहना है कि यूजीसी पे स्केल जल्द जारी हाे।

कॉलेज टीचरों ने भी बंद किया है पेपर चेकिंग का काम

प्रदेश कॉलेज टीचर्स एसोसिएशन भी सरकार से यूजीसी पे स्केल लागू करने की मांग कर रही है। ऐसे में उन्होंने पहले ही यूजी कक्षाओं की पेपर चेकिंग का काम रोका हुआ है। एसोसिएशन का कहना है कि जब तक यूजीसी पे स्केल लागू नहीं होता, तब तक आंसर शीट चेकिंग का बहिष्कार जारी रहेगा। अब दूसरे स्टेट में पीजी कोर्स के लिए आवेदन करने वाले छात्र बिना रिजल्ट के काउंसिलिंग प्रक्रिया में हिस्सा नहीं ले पाएंगे। जिससे उनके करियर पर संकट आ गया है। एचपीयू ने 20 जून तक थर्ड ईयर के रिजल्ट घोषित करने का लक्ष्य रखा है। पेपर चेकिंग का 80% जांच कार्य पूरा भी हाे चुका है, लेकिन अब काम रोक दिया गया है।