• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • HRTC Buses Will Not Run On Monday, The Decision Of The Movement To Work In The Notice Given To The Management, The Staff Asking For Salary On Time

विरोध की राह:साेमवार काे नहीं चलेंगी एचआरटीसी बसें, प्रबंधन काे दिए नाेटिस में काम छाेड़ाे आंदाेलन का फैसला, टाइम पर सैलरी मांग रहा स्टाफ

शिमला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ओल्ड बस स्टैंड में कर्मचारियों ने प्रदर्शन  किया, निगम को 582 करोड़ का भुगतान करना है। - Dainik Bhaskar
ओल्ड बस स्टैंड में कर्मचारियों ने प्रदर्शन किया, निगम को 582 करोड़ का भुगतान करना है।

शहर में आगामी 18 अक्टूबर काे बसें नहीं चलेंगी। दशहरे की छुट्टी के बाद जब लाेग घर से लाैटेंगे ताे बसें न मिलने के कारण लाेगाें काे मुश्किलाें का सामना करना पड़ सकता है। हिमाचल पथ परिवहन निगम कर्मचारी समन्वय समिति ने प्रबंधन काे दिए गए नाेटिस में कहा कि वे एक दिन के काम छाेड़ाे आंदाेलन पर रहेंगे। ऐसे में लाेगाें काे परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

शिमला के ओल्ड बस स्टैंड में बुधवार काे पत्रकाराें से बात करते हुए समन्वय समिति के सचिव खेमेंद्र गुप्ता ने कहा कि परिवहन निगम प्रबंधन और प्रदेश की जनता को परिवहन निगम के कर्मचारियों की समस्याओं से अवगत करवाने के लिए कर्मचारी पिछले दो महीने से आंदोलन कर रहे हैं। निगम कर्मचारियों एवं पेंशनरों की लगभग 582 करोड़ रुपए के अनेकों वित्तीय लाभ की देनदारियां वर्षों से लंबित हैं और यह आगे भी जमा हो रही है।

यह वित्तीय लाभ अन्य विभागों के कर्मचारियों को बहुत पहले जारी हो चुके हैं। निगम में यह एक प्रथा बन चुकी है कि बिना आंदोलन किए कोई भी वित्तीय लाभ नहीं दिए जाते। पिछले चार वर्षों से कर्मचारियों ने कोई भी आंदोलन नहीं किया। बिना मांगे प्रबंधन व सरकार कर्मचारियों के कोई भी वित्तीय लाभ नहीं देती।

इन मांगाें काे पूरा करने की मांग उठाई
समन्वय समिति का कहना है कि प्रबंधन को 14 सितंबर 2021 काे बताया दिया गया था कि 18 अक्टूबर काे एक दिवसीय काम छोड़ो आंदाेलन (हड़ताल) हाेगा, इसके लिए नाेटिस भी जारी किए गया। जबकि निगम प्रबंधन कर्मचारियों को जानबूझकर आंदोलन के लिए उकसा रहा है। क्योंकि, निगम प्रबंधन द्वारा संयुक्त समन्वय समिति के साथ पूर्व में किए गए समझौतों पर अमलनहीं किया है।
जनवरी 2016 से 13% आईआर, डीए जनवरी 2019 से 4%, 5% जुलाई 2019 से व 6% जुलाई 2021 से, कुल डीए 15%, 35 महीनों का नाइट ओवर टाइम, पेंशन, ग्रेच्युटी, कम्यूटेशन, लीव इनकैशमेंट, जीपीएफ, मेडिकल रीइंमबर्समेंट कई प्रकार के एरियर आदि कर्मचारियों के लगभग 582 करोड़ रुपए के लंबित वित्तीय भुगतान देय हैं। जिससे कर्मचारी अपने को ठगा सा महसूस कर रहा है। कर्मचारियों के वित्तीय बकाया राशि का भुगतान दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है।

गंभीर नहीं एचआरटीसी प्रबंधनः हिमाचल परिवहन कर्मचारी संयुक्त समन्वय समिति ने ओल्ड बस स्टैंड में प्रदर्शन भी किया। इस दाैरान माैके पर अध्यक्ष प्यार सिंह ठाकुर, उपाध्यक्ष मान सिंह ठाकुर, सचिव खेमेंद्र गुप्ता, प्रवक्ता संजय कुमार, कोषाध्यक्ष जगदीश चंद, हरीश पराशर, टेक चंद, विनोद कुमार, मिलाप चंद, बालकृष्ण, पदम सिंह, समर चौहान, देसराज, राय सिंह, धनीराम, सुखराम, प्रेम सिंह, अनित कुमार, ऋषि लाल, गोपाल लाल, देवीचंद, मनोज कुमार, नवल किशोर, टेकचंद, पूर्ण चंद, विजय कुमार ने भी इस प्रदर्शन में भाग लिया। कर्मचारियाें का आराेप हे कि एचआरटीसी प्रबंधन कर्मचारियों की समस्याओं के समाधान के लिए गंभीर नही है।

खबरें और भी हैं...