नशे में वाहन चलाने वालों के लिए चेतावनी:शराब पीकर कोई भी गाड़ी चलाई तो टूरिस्ट की तरह देना होगा 15 हजार चालान

शिमला20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पंजाब के टूरिस्ट के पास न बाइक के कागज थे न लाइसेंस, ऊपर से शराब भी पी थी, बिना लाइसेेंस के लगे साढ़े सात हजार

पुलिस की ओर से ट्रैफिक नियमाें की पालना करने के लिए बार बार लाेगाें काे जागरूक किया जाता है। इसके बावजूद भी लाेग मानने काे तैयार ही नहीं है। अब अगर काेई भी लापरवाही हुई ताे शिमला में भारी भरकम चालान कटेगा। ऐसा ही चालान एक पंजाब के टूरिस्ट का हुआ है। हालांकि, ट्रैफिक मैजिस्ट्रेट की ओर से काटे गए इस 22500 रुपए के चालान के बाद टूरिस्ट का नाम जाहिर नहीं किया गया है।

जानकारी के मुताबिक बीते साेमवार देर शाम ट्रैफिक मजिस्ट्रेट ने विक्ट्री टनल के पास नाका लगाया हुआ था। इस दाैरान पंजाब नंबर की एक बाइक यहां पर पहुंची। जब बाइक सवार से पूछताछ की गई ताे इसके पास न ताे काेई दस्तावेज थे और न ही लाइसेंस था। वहीं, जब उसका ब्रेथ-एनालाइजर टेस्ट किया गया ताे पता लगा कि वह शराब पीकर बाइक चला रहा है।

ऐसे में उसका 22 हजार 500 रुपए का चालान किया गया। हालांकि, चालान करने के बाद उसकी गिरफ्तारी नहीं हुई। देश में हर साल हजारों सड़क हादसे होते हैं जिनमें करीब डेढ़ लाख लोगों की मौत हो जाती है और लाखों लोग घायल होते हैं। केंद्र सरकार ने हादसों पर लगाम कसने के लिए ही 2019 में जुर्माना राशि में बढ़ोतरी की थी।

शिमला में अब ड्रंक एंड ड्राइव का 15 हजार चालानः बिना लाइसेंस, 7500, सीट बेल्ट न लगाने पर 1500, ड्रंक एंड ड्राइव 15 हजार, बिना इंश्योरेंस 3000,माेबाइल पर बात करने पर 7500, बिना हेलमेट 1500, ओवरस्पीड 1500 रुपए तय किए गए हैं। जयराम सरकार ने ने डेढ़ गुणा जुर्माना फैक्टर लगाया था। इससे चालान की जुर्माना राशि में डेढ़ गुना तक की बढ़ोतरी हुई। नए माेटर व्हीकल एक्ट के तहत जुर्माने की अधिसूचना काफी समय पहले सरकार ने जारी कर दी है।

इसलिए जरूरी है चालानः प्रदेश में सड़क दुर्घटनाओं के मुख्य कारणों में लापरवाही से वाहन चलाना, तेज रफ्तार, नशे में गाड़ी चलाना, फिसलन भरी एवं असमतल सड़क सतह, वाहनों में खराबी, खराब मौसम, बाहरी मोड़ों पर पैरापिट्स का न होना शामिल हैं। वर्ष 2019-20 में 93.61 प्रतिशत दुर्घटनाएं मानवीय गलतियों के कारण हुई हैं। यही नहीं प्रदेश की सड़काें पर चलने वाले वाहन चालकाें काे सीट बेल्ट पहनने की आदत ही नहीं है। इसके अलावा रांग साइड में वाहन चलाने के कारण भी दुर्घटनाएं हाे रही हैं।

ड्रंक एंड ड्राइव पर हाेती है ज्यादा कार्रवाईः अगर आप ड्रंक करके ड्राइव करते हैं ताे आपके ऊपर मोटर व्हीकल एक्ट की धारा 185 लगाई जाती है। इसमें लिखा है कि आपने एक्ट की धारा 185 का उल्लंघन किया है। आपका वाहन एक्ट की धारा 207 के तहत जब्त किया जाता है। इतना ही नहीं, इसके बाद गाड़ी कोर्ट से छुटाना पड़ सकती है। शिमला की बात करें ताे यहां पर जागरूकता अभियान के बावजूद लाेग जिम्मेवारी नहीं समझ रहे हैं। बाहरी राज्य से आने वाले टूरिस्ट भी नियमाें की उल्लघंना कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...