चंबा में रावी नदी में रुकेगा अवैध खनन:माइनिंग के लिए 9 साइट की कल होगी नीलामी, 1 करोड़ राजस्व की उम्मीद

शिमला4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक तस्वीर। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक तस्वीर।

हिमाचल के जिला चंबा में रावी नदी पर अवैध खनन को रोकने के लिए उद्योग विभाग कल 9 साइटों की नीलामी कर रहा है। करीब 9 साल बाद यहां पर खनन साइटों की नीलामी की जा रही है। इससे एक और जहां स्थानीय लोगों की निर्माण सामग्री की मांग पूरी हो सकेगी। वहीं इससे क्षेत्र के लोगों को रोजगार के अवसर भी मिलेंगे। चंबा में रावी नदी के किनारे अवैध खनन के बढ़ते मामलों को रोकने के लिए विभाग ने यहां के लेफ्ट आउट एरिया में खनन साइटों की नीलामी का फैसला लिया है।

उद्योग विभाग इन खनन साइटों की खुली बोली और टेंडर के द्वारा नीलामी करेगा। इसमें विभाग को जिस भी साइट की सबसे अधिक बोली प्राप्त होगी विभाग उस आधार पर उस खनन साइट को नीलाम करेगा। जिन 9 खंडों पर खनन साइटों की नीलामी की जानी है उनमें से अधिकांश क्षेत्र से 6 से 9 हेक्टेयर के बीच बताए जा रहे हैं।

इन खनन साइटों को नीलाम करके विभाग को करीब एक करोड़ रुपए का राजस्व जुटेगा। स्टेट जियोलॉजिस्ट पुनीत गुलेरिया ने बताया कि इन 9 सीटों के लिए जितनी ऊंची बोली जाएगी, राजस्व भी उतना ज्यादा प्राप्त होगा। उन्होंने बताया कि कम से कम एक करोड़ रुपए तक का राजस्व जुटने की उम्मीद लगाई है।

फॉरेस्ट क्लीयरेंस लेना अनिवार्य

इनमें से सात खनन साइट चक्की खड्ड पर, एक चंद्रभागा और एक रावी नदी पर है। इनका रिजर्व प्राइस 1 लाख से लेकर 18 लाख तक का रखा गया है। खनन साइटों की नीलामी के बाद खनन धारकों की जिम्मेदारी होगी कि वह काम शुरू करने से पहले फॉरेस्ट क्लीयरेंस लेना अनिवार्य करें।