पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मरीजों में कमीं:आईजीएमसी में कम लाेग ही पहुंचे ओपीडी, नहीं लगी राेजाना जैसी कतारें

शिमला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पर्ची काउंटर जहां राेजाना भीड़ रहती थी, शुक्रवार दाेपहर काे खाली था। - Dainik Bhaskar
पर्ची काउंटर जहां राेजाना भीड़ रहती थी, शुक्रवार दाेपहर काे खाली था।

इसे कर्फ्यू का असर कहें या फिर काेराेना का डर आईजीएमसी में ओपीडी में भी शुक्रवार काे काफी कम लाेग इलाज के लिए आए। जहां राेजाना आजकल 1700 से 2000 के बीच ओपीडी आईजीएमसी में हाे रही थी। वहीं शुक्रवार काे शाम पांच बजे तक 650 मरीज ही आईजीएमसी में इलाज के लिए पहुंचे। इसमें 524 लाेग रूटीन ओपीडी में जबकि 126 मरीज इमरजेंसी में आए।

यह भी वह लाेग थे, जिन्हें या ताे डाॅक्टर के पास चैकअप के लिए आना था या उन्हें बहुत जरूरी जांच करवानी थी। कई माह में यह पहली बार हुआ है कि यहां पर 1000 से भी कम लाेग इलाज के लिए आए। हालांकि आईजीएमसी में बीते वर्ष काेराेना काल में भी लगातार सेवाएं जारी रही।

इस साल भी आईजीएमसी में ओपीडी चल रही है। केवल ओपीडी में पर्ची के टाइम काे 4 से घटाकर एक बजे कर दिया है, मगर जितने मरीज यहां आ रहे हैं, उनकी जांच की जा रही है। राेजाना जहां पर्ची काउंटर पर मरीजाें लंबी कतारें लगी रहती थी, शुक्रवार काे सुबह से ही पर्ची काउंटर पर ज्यादा भीड़ नहीं दिखी। पर्ची काउंटर के अलावा टेस्ट, फीस काउंटर में भी जहां राेजाना लंबी कतारें रहती थी, शुक्रवार काे वह भी खाली नजर आए।

खबरें और भी हैं...