शिमला में सतलुज में छलांग लगाकर विवाहित ने दी जान:पति बोला- कोई परेशानी या झगड़ा नहीं था, दो बच्चों की परवाह भी नहीं की, मुझे कमरे में बंद करके चली गई थी

शिमला/रामपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रामपुर में इस पुल से सतलुज नदी में कूदी महिला। - Dainik Bhaskar
रामपुर में इस पुल से सतलुज नदी में कूदी महिला।

शिमला जिले में 35 साल की विवाहिता ने सतलुज नदी में कूदकर अपनी जान दे दी है। जांच पड़ताल में सामने आया है कि खुदकुशी करने से पहले उसने अपने पति को कमरे में बंद कर दिया था, ताकि वह उसके पीछे न आ सके। पुलिस ने शव बरामद करके पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप भी दिया है। विवाहिता के माता-पिता, सास-ससुर और पति के बयान दर्ज कर लिए गए हैं। लेकिन ये बड़ा सवाल है कि महिला ने ऐसा खौफनाक कदम क्यों उठाया।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, रामपुर में किराए के मकान में रह रही एक 35 साल की विवाहिता का शव सतलुज नदी से निकाला गया। पुलिस ने जब पति के बयान दर्ज किए तो उसमें यह बात सामने आई है कि वह पति को कमरे में बंद कर गई थी। उसके दो बच्चे हैं, जिनकी परवाह भी उसने नहीं की। न कोई विवाद था और न ही कोई परेशानी।

मामले को लेकर मृतका के माता-पिता ने भी ससुराल वालों पर किसी तरह का कोई आरोप नहीं लगाया है। मृतका की पहचान सुरेश कुमारी (35) पत्नी बबलू ठाकुर, गांव नोगा, डाकघर सूरड़, तहसील ननखड़ी, जिला शिमला के रूप में हुई है। वह अपने परिवार के साथ रामपुर बस स्टैंड के नजदीक किराए के मकान में रहती थी। डीएसपी रामपुर चंद्रशेखर ने मामले की पुष्टि की है।

खबरें और भी हैं...