• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • In Shimla, The Desire Of The Tourists Will Be Fulfilled, There Is A Possibility Of Snow Fall On December 25, There Will Be A White Christmas After 5 Years

हिमाचल में इस बार होगा व्हाइट क्रिसमस:5 साल बाद 25 दिसंबर को बर्फबारी होने की संभावना, 2016 में सैलानियों ने किया था खूब एन्जॉय

शिमला3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हिमाचल प्रदेश में इस बार सैलानियों को व्हाइट क्रिसमस देखने को मिल सकेगा। मौसम वैज्ञानिकों ने इस बार 25 दिसंबर को बर्फ गिरने की संभावना जताई है। अक्टूबर माह में हुई बर्फबारी के बाद दिसंबर में बर्फबारी का दौर जल्द ही शुरू हो जाएगा। ऐसे में 5 साल बाद शिमला में घूमने आने वाले सैलानियों को क्रिसमस के दिन बर्फबारी देखने को मिलेगी। बदलते क्लाइमेट के चलते शिमला में पिछले कई सालों से क्रिसमस पर बर्फ पर ही नहीं हो रही। आखिरी बार साल 2016 में 25 साल बाद व्हाइट क्रिसमस देखने को मिला था। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि इस बार दिसंबर में बर्फबारी का दौर जल्द शुरू हो जाएगा। क्लाइमेट चेंज की वजह से हिमाचल में बर्फबारी भी कम हुई है। पहाड़ों पर पहले दिसंबर माह में बर्फबारी का दौर शुरू हो जाता था, लेकिन 1991 के बाद स्नो स्पेल धीरे-धीरे कम होना शुरू हो गए।

क्लाइमेंट चेंज की वजह से कम हो रही बर्फबारी।
क्लाइमेंट चेंज की वजह से कम हो रही बर्फबारी।

कई वर्षों से सैलानी निराश होकर लौट रहे वापस

हर साल लाखों की संख्या में सैलानी शिमला पहुंचकर व्हाइट क्रिसमस का बेसब्री से इंतजार करते हैं, लेकिन पिछले 5 सालों से 25 दिसंबर को बर्फबारी नहीं होने से शिमला पहुंचने वाले सैलानियों के हाथ मायूसी ही लगी। सैलानी बर्फबारी देखने के लिए न्यू ईयर तक यहीं पर बने रहते हैं। ऐसे में मौसम वैज्ञानिकों ने इस बार 25 दिसंबर को भी बर्फबारी होने की संभावना जताई है। जिससे शिमला में सैलानियों की काफी भीड़ उमड़ने और होटल व्यवसायियों को भी अच्छी आमदनी होने की उम्मीद है।

5 साल बाद होगी 25 दिसंबर को बर्फबारी।
5 साल बाद होगी 25 दिसंबर को बर्फबारी।

तापमान पर निर्भर करती है बर्फबारी

शिमला स्थित मौसम विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिक डॉ. सुरेंद्र पाल का कहना है बर्फबारी तापमान पर निर्भर करती है। अगर तापमान में कमी आती है, तभी बर्फबारी होती है। इस बार अक्टूबर माह में ही बर्फबारी का दौर शुरू हो गया। ऐसे में शिमला में दिसंबर में बर्फबारी होने की उम्मीद है। बर्फबारी कम होने का मुख्य कारण क्लाइमेट चेंज है। पहाड़ों पर बर्फबारी के स्पेल हर साल कम हो रहे। प्रदेश में 15 नवंबर से विंटर सीजन शुरू होगा और दिसंबर माह में यदि बढ़ती है तो बर्फबारी भी जरूर होगी।

खबरें और भी हैं...