जागरुकता:सात दिवसीय एनएसएस शिविर में स्वयंसेवियों को योगा और इसके महत्व के बारे में बताया

शिमला9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

एनएसएस शिविर में की स्वयंसेवियों को योगा व इसका महत्त्व साथ ही संतुलित जीवन कैसे जीया जाए इसके बारे में लोगों को बताया। कार्यक्रम के मुख्यातिथि के रूप में महाविद्यालय के प्रधानाचार्य डॉ. चंद्रभान मेहता रहे। स्वयंसेवियों को योग कराने के लिए योग प्रशिक्षकों को आमंत्रित किया। जिसमें तीन योग प्रशिक्षिकाएं उपस्थित रहीं। योग प्रशिक्षिका काजल राठौर, आंचल और पूजा ने अपनी उपस्थिति दर्ज करवाई।

उन्होंने सभी को पदमसधना के बारे में बताया कि इसको अपने प्रतिदिन के व्यवहार में ढालने से तनाव, डर, अपने लक्ष्य के प्रति सजग, घबराहट व हर पल को अच्छे से जीना यानी वर्तमान में होने वाली चीजों पर पूरा ध्यान देकर जीना सिखाया।

खबरें और भी हैं...