पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

किन्नौर नेशनल हाईवे पर ज्यूरी के पास लैंडस्लाइड:चंद सेकेंड में पूरा पहाड़ भरभरा कर सड़क पर आ गया, निगुलसेरी से 10 किमी दूर हुआ हादसा; जान माल के नुकसान की सूचना नहीं

शिमला/रामपुर19 दिन पहले
किन्नौर नेशनल हाईवे पर ज्यूरी के पास हुआ लैंडस्लाइड।

हिमाचल प्रदेश में लैंडस्लाइड होने का सिलसिला जारी है। ताजा घटनाक्रम सोमवार सुबह शिमला से किन्नौर जाने वाले नेशनल हाईवे 5 का है। सुबह 9:30 बजे लैंडस्लाइड हुआ और हाईवे पूरी तरह से ठप हो गया। हालांकि प्रशासन की ओर से हाईवे को खोलने का काम शुरू कर दिया गया है, लेकिन किसी भी तरह के जान माल के नुकसान की सूचना नहीं है। घटना ज्यूरी के पास हुई है।

मिली जानकारी के अनुसार, अचानक ही पूरा पहाड़ भरभरा कर नीचे सड़क पर आ गया। सुबह 9 बजे के करीब हाईवे से गुजर रहे वाहन चालकों ने देखा कि ज्यूरी के समीप पहाड़ों से छोटे-छोटे पत्थर गिर रहे हैं। उन्होंने पीछे आ रहे लोगों को संदेश दे दिया और आगे सामने से वापस आ रहे वाहन चालकों को भी बता दिया। इससे जो वाहन जहां थे, वहीं रुक गए और हादसा टल गया।

हाईवे पर ज्यूरी के पास लैंडस्लाइड का एक दृश्य।
हाईवे पर ज्यूरी के पास लैंडस्लाइड का एक दृश्य।

क्योंकि लोगों के जेहन में अभी भी निगुलसेरी लैंडस्लाइड का दृश्य और हादसा ताजा है। इसके बाद बड़े-बड़े पत्थर पहाड़ी से नीचे गिरना शुरू हो गए। हाईवे के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतारें भी लग गईं। लोगों ने इस घटना के वीडियो भी बनाए, जिसमें पहाड़ी के भरभरा कर गिरने का पूरा दृश्य रिकॉर्ड हुआ है। वाहन चालकों ने ही पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों को लैंडस्लाइड की सूचना दी।

हाईवे खोलने के लिए पहुंच गई मशीनें

प्रशासन को जैसे ही लैंडस्लाइड की सूचना मिली, तुरंत मौके पर मशीनों को भेज दिया गया। मशीनों ने हाईवे को बहाल करने का काम शुरू कर दिया। लैंडस्लाइड वाली जगह के दोनों ओर से मशीनों को लगाया गया है, ताकि नेशनल हाईवे को जल्द से जल्द बहाल किया जा सके। क्योंकि हाईवे के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतारें लगी हैं और दूर तक जाम की स्थिति बनी रहेगी।

किन्नौर नेशनल हाईवे पर लैंडस्लाइड के बाद लगा जाम।
किन्नौर नेशनल हाईवे पर लैंडस्लाइड के बाद लगा जाम।

किन्नौर जिला का संपर्क फिर से कटा

उल्लेखनीय है कि नेशनल हाईवे-5 एकमात्र ऐसा हाईवे है, जिससे किन्नौर जुड़ता है। अगर यह हाईवे बंद हो जाए तो किन्नौर का संपर्क सड़क मार्ग से बाकी के हिमाचल से पूरी तरह से कट जाएगा। क्योंकि लगातार हाईवे पर भूस्खलन हो रहा है। इससे हाईवे से आने-जाने वाले लोगों में डरा पैदा हो गया है कि पता नहीं कब ऊपर से पत्थर आकर गिर जाए।

निगुलसेरी से 10 किलोमीटर की दूरी पर हुआ हादसा

गौरतलब है कि पिछले महीने 11 अगस्त को किन्नौर जाते हुए निगुलसेरी में लैंडस्लाइड हुआ था। यहां पर एचआरटीसी बस समेत चार अन्य वाहन मलबे में दब गए थे और 28 लोगों की मौत हो गई थी। 11 लोगों को रेस्क्यू किया गया था। ऐसे में दोबारा से नेशनल हाईवे-5 पर लैंडस्लाइड हुआ है, लेकिन इस बार लोगों ने मुस्तैदी दिखाते हुए वाहनों को पहले ही पीछे रोक दिया था।

खबरें और भी हैं...