पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जताया शोक:बरागटा के पार्थिव शरीर के किए अंतिम दर्शन, ठियोग में लोक निर्माण विश्राम गृह के पास सैकड़ों ने लोगों ने बरागटा को श्रद्धंजलि

ठियोग/ शिमला4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ठियोग में स्वर्गीय नरेंद्र बरागटा को श्रद्धाजंलि देते लोग। - Dainik Bhaskar
ठियोग में स्वर्गीय नरेंद्र बरागटा को श्रद्धाजंलि देते लोग।

शनिवार को भाजपा सरकार के मुख्य सचेतक व जुब्बल कोटखाई के विधायक नरेंद्र बरागटा का पार्थिव शरीर दोपहर बाद दो बजे जब ठियोग पहुंचा तो बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ताओं व अन्य दलों के नेताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की।

लोकनिर्माण विश्राम गृह के समीप दी गई श्रद्धाजंलि के समय प्रदेश सरकार के वरिष्ठ मंत्री सुरेश भारद्वाज, स्वर्गीय बरागटा के पुत्र चेतन बरागटा, एपीएमसी अध्यक्ष नरेश शर्मा, पूर्व अध्यक्ष ज्ञान चंदेल, माकपा उपाध्यक्ष संदीप, शहरी कांग्रेस अध्यक्ष व पार्षद अनिल ग्रोवर, नप उपाध्यक्ष रीना शर्मा, पूर्व अध्यक्ष व पार्षद शीला वर्मा, सहित कई लोग उपस्थित थे। ठियोग में कुछ देर रुकने के बाद नरेंद्र बरागटा के पार्थिव शरीर को कोटखाई ले जाया गया इस दौरान छैला, गुम्मा सहित रास्ते मे पड़ने वाली कई जगहों पर लोगों ने अपने प्रिय नेता के अंतिम दर्शन किए व उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किए। जिला भाजपा के अलावा, ठियोग, जुब्बल कोटखाई भाजपा मण्डलों ने भी बरागटा के निधन पर गहरा दुख जताया है। जिला व मंडल पदाधिकारियों ने कहा है कि बरागटा के बागबानों किसानों के लिए किए गए कामों को हमेशा याद किया जाएगा। प्रदेश ने इन वर्गों की चिंता करने वाला नेता खो दिया है।

जुब्बल कोटखाई के पूर्व कांग्रेस विधायक व नरेंद्र बरागटा के राजनैतिक प्रतिद्वंद्वी रहे रोहित ठाकुर ने बरागटा के निधन पर गहरा दुख प्रकट किया है। रोहित ने कहा कि बरागटा एक जुझारू व्यक्ति थे और प्रदेश की राजनीति में उनका बड़ा योगदान था। वे एक बार शिमला और दो बार जुब्बल कोटखाई से चुने गए। उन्होंने परिवार के प्रति सम्वेदना प्रकट की है। वहीं माकपा के जिला सचिव संजय चाैहान ने कहा कि इस दुख की घड़ी में माकपा शोक संतप्त परिवार के साथ खड़े हैं। यह न केवल परिवार, सगे संबंधियों या जुब्बल कोटखाई की जनता की क्षति है बल्कि यह पूरे प्रदेश के लिए एक आघात है।

खबरें और भी हैं...