उलझन / एचपीयू में छात्रों के करियर पर लॉकडाउन, सेमेस्टर सिस्टम के रिजल्ट न निकलने के कारण नहीं ले पा रहे एडमिशन

Lockdown on the career of students in HPU, due to failure of semester system results, admissions are not available
X
Lockdown on the career of students in HPU, due to failure of semester system results, admissions are not available

  • एडमिशन के लिए अंडर ग्रेजुएट कोर्स की डिटेल मार्कशीट जरूरी

दैनिक भास्कर

May 21, 2020, 12:23 PM IST

शिमला. (जोगेंद्र शर्मा) हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी ने लॉकडाउन के इस दौर में छात्रों के भविष्य पर भी लॉकडाउन लगा दिया है। सेमेस्टर सिस्टम के रिजल्ट को प्रशासन अभी तक भी सेटल नहीं कर पाया है। ऐसे में छात्रों को एडमिशन लेने में दिक्कत आ रही है।  वर्ष 2019 में विवि प्रशासन की ओर से पांचवे सेमेस्टर के रिवॉल्यूशन व कंपार्टमेंट के अन्य परीक्षाएं ली गई थी। अभी तक इसका रिजल्ट भी प्रशासन निकालने में नाकाम रहा है। पीजी कोर्स में एडमिशन के लिए होने वाले किसी भी साक्षात्कार में अंडर ग्रेजुएट कोर्स की डिटेल मार्क शीट, डीएमसी होना जरूरी है। जबकि अभी तक पांचवें सेमेस्टर के रिजल्ट ना आने के कारण छात्रों को  मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। अगर 30 मई तक पांचवें सेमेस्टर का परिणाम न निकला तो न सिर्फ एचपीयू काे अपना पीजी डिग्री कोर्स के प्रवेश का शेड्यूल बदलना पड़ेगा। बल्कि प्रदेश के बाहर की यूनिवर्सिटी में एडमिशन के लिए एप्लाई कर चुके स्टूडेंट्स को पीजी कोर्स में प्रवेश लेने में मुश्किलें पेश आ सकती है। 
रूसा के हजारों छात्रों को पांचवें सेमेस्टर के परिणाम घोषित होने का इंतजार: पांचवें सेमेस्टर का परिणाम आने पर ही अंडर ग्रेजुएट डिग्री का ओवरआल रिजल्ट और ग्रेड घोषित होगा। रूसा में पहले होने वाली सालाना परीक्षाओं की तरह  बिना परिणाम घोषित किए गोपनीय परिणाम यानी सीक्रेट रिजल्ट घोषित करने की व्यवस्था भी अभी नहीं है। ऐसे में रिजल्ट निकलने में देरी होने पर स्टूडेंट्स की बाहर की यूनिवर्सिटी में एडमिशन नहीं हो पाएगी। परीक्षा नियंत्रक प्रो. जेएस नेगी का कहना है कि कोशिश की जा रही है कि 30 मई से पहले परिणाम घोषित कर लेंगे। परिणाम को निकालने का काम किया जा रहा है। 

आरोप: लापरवाही बरती जा रही

एसएफआई का कहना है की पीजी कोर्सेज के लिए ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है,लेकिन अभी तक यूजी के पांचवे सेमेस्टर के परीक्षा परिणाम नही आया है। जिससे पीजी कोर्सेज में एडमिशन लेने के लिए आवेदन करने वाले छात्र चिंतित है। एसएफआई विश्वविद्यालय इकाई ने मांग की है की जल्द से जल्द पांचवे सेमेस्टर का परीक्षा परिणाम घोषित किया जाए और जो रिजल्ट अभी तक सेटल नहीं किए है, उन्हें सेटल किया जाए।
स्टाफ की है भारी कमी : प्रदेश यूनिवर्सिटी में गैर शिक्षकों की कमी का नुकसान अंडर ग्रेजुएट परीक्षाओं के छात्रों को उठाना पड़ता है। क्योंकि एचपीयू के पास यूजी की परीक्षाएं करवाने, परिणाम निकालने और छात्रों की अवार्ड लिस्ट की रजिस्‍टर एंट्री करने के लिए स्टाफ ही नहीं है। परीक्षाएं करवाने में देरी के चलते परिणाम आने मेंं भी देरी होती है। 

एचपीयू में पीजी एडमिशन शुरू 

एचपीयू में पीजी कोर्सेस के लिए एडमिशन शुरू हो गई है। तय  शेड्यूल के आधार पर एमएससी बॉटनी, जूलॉजी एमएमसी कोर्स,एलएलबी तीन वर्षीय कोर्स, एमए इंग्लिश, साइकोलॉजी, पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन, फिजिकल एजुकेशन, सोशोलॉजी, पॉलिटिकल साइंस, म्युजिक, योग, रूरल डिवेलपमेंट, एमएबीई सहित एमकॉम, एमए हिस्ट्री, संस्कृत, इकोनॉमिक्स, हिंदी विज्युअल आर्ट्स, ट्रांसलेशन, सर्टिफिकेट, डिप्लोमा और एडवांस डिप्लोमा इन भोटी, डिप्लोमा इन योग  के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। जबकि अभी तक यूजी का पूरा रिजल्ट नहीं निकला है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना