• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Manish Sisodia Challenged The Education Minister Of Himachal, Have An Open Debate On Education, This Will Know Which State's Education Is Better

हिमाचल के शिक्षा मंत्री को चुनौती:मनीष सिसोदिया बोले- एजुकेशन पर खुली बहस करें, तब मालूम होगा किसके यहां बेहतर

शिमलाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया - Dainik Bhaskar
दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया

दिल्ली सरकार में उप मुख्यमंत्री एवं शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने हिमाचल प्रदेश के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर को एजुकेशन पर खुली बहस की चुनौती दी है। सिसोदिया ने ट्वीट करके कहा कि देखकर खुशी हुई कि हिमाचल में शिक्षा पर चर्चा शुरू हुई है।

मनीष सिसोदिया ने गोविंद सिंह ठाकुर को कहा कि आप हमें हिमाचल के स्कूल दिखाइए। हम आपको दिल्ली के स्कूल दिखाएंगे। इस दौरान शिक्षा पर बहस करेंगे। इसके बाद जनता खुद तय करेगी कि किस राज्य के स्कूल और शिक्षा बेहतर है। सिसोदिया के इस ट्वीट के बाद राज्य में सियासी पारा और गर्म हो गया है।

मनीष सिसोदिया का ट्वीट
मनीष सिसोदिया का ट्वीट

लोगों को सपने दिखा रहे AAP नेता: जमवाल

भाजपा के प्रदेश महासचिव और मुख्यमंत्री के राजनीतिक सलाहकार त्रिलोक जमवाल ने कहा कि AAP नेता हिमाचल के लोगों को केवल सपने दिखा रहे हैं। सिसोदिया हिमाचल में राजनीतिक पर्यटक हैं और वह केवल छुट्टी मनाने प्रदेश आ रहे हैं। हिमाचल प्रदेश शिक्षा मानकों के मामले में देश में दूसरे स्थान पर है, जबकि दिल्ली 11वें स्थान पर है। 2015 से 2021 तक दिल्ली में 16 स्कूल बंद कर दिए गए। दिल्ली में कुल 1030 स्कूल हैं और इनमें 745 स्कूलों में प्रिंसिपल और 416 स्कूलों में वाइस प्रिंसिपल नहीं हैं।

शिमला में जयराम सरकार पर हमले कर चुके सिसोदिया

बता दें कि 4 रोज पहले मनीष सिसोदिया शिमला दौरे पर आए थे। उन्होंने यहां कई बच्चों के अभिभावकों और शिक्षकों से बात की। उन्होंने हैरानी जताई कि हिमाचल के सरकारी स्कूल एक-एक शिक्षकों के सहारे चल रहे हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री जयराम सरकार पर शिक्षा को बर्बाद करने का आरोप लगाया। इस पर प्रदेश के शिक्षा मंत्री और भाजपा नेताओं ने पलटवार किए। इसके बाद मनीष सिसोदिया ने ट्वीट करके बहस के लिए खुली चुनौती दे दी।

शिक्षा को मुद्दा बनाना चाह रही AAP

मनीष सिसोदिया विधानसभा चुनाव से पहले निरंतर हिमाचल की शिक्षा को लेकर राज्य सरकार पर हमले कर रहे हैं। सिसोदिया शिक्षा को चुनाव में मुद्दा बनाना चाहते हैं, क्योंकि दिल्ली के स्कूलों की देशभर में प्रशंसा हो रही है। दावा किया जा रहा है कि दिल्ली में निजी स्कूलों को छोड़कर बच्चे सरकारी स्कूलों में आ रहे हैं। इसलिए दिल्ली सरकार शिक्षा को लेकर केजरीवाल मॉडल ऑफ गवर्नेंस की बात कर रही है।