हिमाचल हाईकोर्ट को मिले नए मुख्य न्यायाधीश:राजस्थान के मोहम्मद रफीक रह चुके जयपुर यूनिवर्सिटी के विद्यार्थी, सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम ने की मध्यप्रदेश से ट्रांसफर करने की सिफारिश

शिमला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मध्य प्रदेश हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश मोहम्मद रफीक अब हिमाचल प्रदेश हाईकोर्ट के नए मुख्य न्यायाधीश होंंगे। सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम ने इन्हें मध्य प्रदेश हाईकोर्ट से हिमाचल हाईकोर्ट स्थानांतरित करने की सिफारिश की है। हिमाचल हाईकोर्ट के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश रवि मलिमथ को मध्य प्रदेश हाईकोर्ट का मुख्य न्यायाधीश बनाने का फैसला भी कोलेजियम द्वारा किया गया है। इसके अलावा कर्नाटक के एक्टिंग चीफ जस्टिस एससी शर्मा को तेलंगाना चीफ जस्टिस बनाने, मध्यप्रदेश के प्रशासनिक जज प्रकाश श्रीवास्तव को पश्चिम बंगाल हाईकोर्ट, कलकत्ता चीफ जस्टिस आर बिंदल को इलाहाबाद हाईकोर्ट का चीफ जस्टिस और जस्टिस डीएन पटेल को भी चीफ जस्टिस बनाने के प्रस्ताव पास किए गए हैं। उल्लेखनीय है की जस्टिस जेके माहेश्वरी के सुप्रीम कोर्ट पहुंचने के बाद सीनियर सुप्रीम कोर्ट जस्टिस एएम खानविलकर एवं मध्यप्रदेश के जस्टिस जेके माहेश्वरी के प्रयासों से मध्यप्रदेश के जस्टिस एससी शर्मा और जस्टिस प्रकाश श्रीवस्ताव के चीफ जस्टिस बनने का मार्ग प्रशस्त हुआ है।

राजस्थान के रहने वाले हैं मोहम्मद रफीक

हिमाचल प्रदेश के नए मुख्य न्यायाधीश मोहम्मद रफीक मूल रूप से राजस्थान के निवासी हैं। इनका जन्म 25 मई, 1960 को हुआ। न्यायाधीश मोहम्मद रफीक ने जयपुर यूनिवर्सिटी से वकालत की डिग्री प्राप्त करके राजस्थान हाईकोर्ट में वकालत शुरू की। 15 मई 2006 को इन्हें राजस्थान हाईकोर्ट में जज नियुक्त नियुक्त किया गया। ये दो बार अलग-अलग समय पर राजस्थान हाईकोर्ट के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश भी रहे। 13 नवंबर 2019 को न्यायाधीश मोहम्मद रफीक को मेघालय हाईकोर्ट का मुख्य न्यायाधीश बनाया गया। 27 अप्रैल 2020 को अपने स्थानान्तरण पर इन्होंने ओडिशा हाईकोर्ट में मुख्य न्यायाधीश का पद संभाला। 3 जनवरी 2021 को इन्होंने मध्य प्रदेश हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश के रूप में शपथ ली थी।

हाईकोर्ट ने कुछ जजों के पदोन्नति और स्थानांतरण आदेश

प्रदेश हाईकोर्ट द्वारा जारी अधिसूचना के तहत 6 डिस्ट्रिक्ट ज्यूडिशियरी के न्यायाधीशों के पदोन्नति एवं स्थानांतरण आदेश जारी किए गए हैं। इस अधिसूचना के तहत जिला एवं सत्र न्यायाधीश डोले राम ठाकुर को शिमला से फैमिली कोर्ट मंडी और डिस्ट्रिक्ट एंड सेशन जज बहादुर सिंह को जिला एवं सत्र न्यायाधीश (वन) शिमला भेजा गया है। इसके अलावा अतिरिक्त सत्र न्यायाधीशों में ज्योत्सना सुमंत डडवाल को पदोन्नत करके रजिस्ट्रार लोकायुक्त हिमाचल प्रदेश, मदन कुमार को जिला एवं सत्र न्यायाधीश (लीव/ ट्रेनिंग रिजर्व) हाई एवं बरिंदर ठाकुर को सचिव ह्यूमन राइट्स कमीशन हिमाचल प्रदेश नियुक्त किया गया है। इसी अधिसूचना के तहत हंसराज को वक्फ बोर्ड का चेयरमैन बनाने के लिए सरकार को प्रस्ताव भेजा गया है।

हिमाचल के दो न्यायाधीशों के तबादलों की भी की अनुशंसा

हिमाचल हाईकोर्ट के दो न्यायाधीशों के तबादले की अनुशंसा भी सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम द्वारा की गई है। इनमें न्यायाधीश सुरेश्वर ठाकुर को इलाहाबाद हाईकोर्ट और न्यायाधीश अनूप चिटकारा को पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट में स्थानांतरित करने की सिफारिश की गई है।

खबरें और भी हैं...