पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Monkeys Snatch The Face Of Tourists And Demand Food And Drink, The Terror Of Monkeys In Ridge, Mall Road, Jakhu, Local People Are Also Troubled By Them

शिमला जाएं तो ब्लैकमेलर बंदरों से बचकर रहें:सामान छीन कर मांगते है खाने-पीने की वस्तुंए; रिज-माल रोड और जाखू में मचाया आतंक, कई लोग जान भी गंवा चुके हैं

शिमला4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
चश्मा छीन कर रेलिंग पर बैठे बंदर को आइसक्रीम देते सैलानी महिला। - Dainik Bhaskar
चश्मा छीन कर रेलिंग पर बैठे बंदर को आइसक्रीम देते सैलानी महिला।

हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में बंदरों का आतंक लगातार बढ़ता जा रहा है। बंदर रिज और माल रोड पर सैलानियों से खाने पीने का सामान छीन कर उन्हें परेशान कर रहे हैं। इसके अलावा कुछ बंदर तो ब्लैकमेलर भी हो चुके हैं, जो सैलानियों के हाथों से उनके चश्मे या अन्य सामान छीन कर ले जाते हैं और बदले में खाने पीने का सामान देने के बाद ही वापस लौटाते हैं। शहर के अन्य वार्डों में भी लोग बंदरों के आतंक से परेशान हैं। लोगों का घरों के बाहर सामान रखना तक मुश्किल हो गया है। मजबूरी में लोगों को जालियां लगानी पड़ी हैं।

कैमरे में कैद हुआ एक वाकया

एक तरह से पिंजरे में लोगों ने खुद को कैद कर लिया है। शिमला के रिज मैदान पर कैमरे में बंदर द्वारा सैलानी को ब्लैकमेल करने का एक मामला कैद हो गया। एक बंदर महिला टूरिस्ट से उसका चश्मा छीन कर रेलिंग पर चढ़ गया और महिला के द्वारा चश्मा मांगने पर उसे अपने हाथों के बीच छुपा लिया। काफी देर तक महिला बंदर के साथ अपने चश्मे को लेने को लेकर जद्दोजहद करती रही, लेकिन उसने अपने हाथों के बीच चश्मे को दबाए रखा। वहीं जब महिला सैलानी के साथ आए लोगों ने चश्मे को बंदर से छीनना चाहा तो वह उन्हें डराने लगा।

50 रुपए की आइसक्रीम दे कर लेना पड़ा वापिस चश्मा

जब काफी देर तक बंदर ने महिला का चश्मा वापस नहीं किया तो वहां से गुजर रहे स्थानीय लोगों ने कहा कि पहले इन्हें खाने के लिए कुछ दो, तभी यह आपको चश्मा वापस करेंगे। इसके बाद महिला ने साथ लगती एक आइसक्रीम शॉप से 50 रुपए की आइसक्रीम खरीदी और बंदर को दी। इसके बाद बंदर ने आइसक्रीम को हाथ में पकड़ा और चश्मे को नीचे फेंक दिया। महिला ने चश्मा लिया और वहां से निकल गई।

महिला सैलानी का चश्मा लेकर रेलिंग पर बैठा बंदर।
महिला सैलानी का चश्मा लेकर रेलिंग पर बैठा बंदर।

बंदरों के हमले से कई लाेग गंवा चुके हैं जान

शिमला में बंदरों का आतंक इस कदर है कि लोगों को अपनी जान से भी हाथा धोना पड़ा है। कुछ दिनों पहले संजौली में एक वाकया सामने आया, जब एक बच्चे पर बंदर झपट पड़ा और बच्चा बचने के लिए पीछा हटा तो वह लैंटर से नीचे गिर गया। गंभीर घायल होने पर पीजीआई ले जाया गया, लेकिन उसे बचाया नहीं जा सकता। एक अन्य वार्ड में भी कपड़े सूखने डाल रही महिला पर बंदर झपटा, डर के मारे महिला लेंटर से नीचे गिरी और उसकी मौत हो गई।

रिज, माल रोड पर रहती है बंदरों की ज्यादा तादाद

शिमला के ऐतिहासिक रिज मैदान और माल रोड पर पर्यटकों की तादाद ज्यादा रहती है। ऐसे में यहां पर बंदर भी ज्यादा पाए जाते हैं, जो सैलानियों को अपना निशाना बनाते हैं।

रोजाना अस्पताल पहुंचते हैं बंदरों के काटे लोग

बंदर लोगों पर हमला भी कर देते हैं। रोजाना अस्पतालों में 10 से 15 लोग बंदरों के काटने से पहुंचते हैं, जिन्हें एंटी रेबीज के टीके लगवाने पड़ते हैं। इनमें से 5 से 7 लोग सैलानी होते हैं।

खबरें और भी हैं...