• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Monsoon Effect: Damage Due To Heavy Rains In Sirmaur, Stones Fell On Vehicle Late Evening Near Shoghi, Debris From Hill In Naina Devi

हिमाचल में इस बार मानसून ने मचाई खूब तबाही:अभी 15 दिन और रहेगा सीजन; अगले 48 घंटे में भारी बारिश होने की चेतावनी, लोगों से अपील- नदी नालों के पास न जाएं

शिमला4 महीने पहले

हिमाचल प्रदेश में इस बार मानसून की बारिश ने खूब तबाही मचाई है। आगे भी 15 दिन तक मानसून के जाने के आसार नहीं हैं। बारिश से जहां सरकार को करोड़ों रुपए का नुकसान हुआ। वहीं भूस्खलन की घटनाओं के कारण प्रदेश की 123 सड़कें बंद हैं और हादसों में मरने वालों का आंकड़ा 422 पहुंच चुका है। सबसे ज्यादा सड़कें शिमला जिला में रोहड़ू में 40 सड़कें, मंडी में 18, हमीरपुर में 9, कांगड़ा में 6 बंद हैं।

श्री नयना देवी के पास हुआ भूस्खलन।
श्री नयना देवी के पास हुआ भूस्खलन।

अगले 2 दिन बेहद सावधान रहने की जरूरत

मौसम विभाग की ओर से, प्रदेश के कुछ जिलों में आगामी 48 घंटों में भारी बारिश होने की चेतावनी जारी की गई है। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने 25 सितंबर तक हिमाचल में मौसम खराब बताया है। मौसम विभाग की मानें तो हिमाचल से मानसून इस बार लेट विदा होगा। अक्टूबर के पहले सप्ताह तक ही मानसून के विदा होने की संभावना है। बारिश के कारण ठंडक का अहसास भी लोगों को होने लगा है।

वहीं किन्नौर की ऊंची चोटियों पर बर्फबारी भी होने लगी है, जिसके चलते तापमान में 3 से 4 डिग्री तक की गिरावट दर्ज की गई है। मौसम विभाग के निदेशक सुरेंद्र पाल का कहना है कि जिन 5 जिले में भारी बारिश होगी, उनमें सोलन, शिमला, सिरमौर, मंडी, चंबा शामिल हैं। इस दौरान कई हिस्सों में जमकर बारिश होने और भूस्खलन समेत नदियों का जलस्तर बढ़ने की संभावना भी बनी हुई है।

श्री नयना देवी से श्री आनंदपुर साहिब मार्ग बंद

भारी बारिश और भूस्खलन के कारण विश्व विख्यात शक्तिपीठ श्री नयना देवी को श्री आनंदपुर साहिब से जोड़ने वाला मुख्य मार्ग बंद हो गया, जिसके चलते श्रद्धालुओं एवं पर्यटकों को काफी परेशानी झेलनी पड़ी। मंदिर दर्शन करके वापस जाने वाले श्रद्धालुओं की गाड़ियां फंसी, हालांकि ज्यादातर श्रद्धालु वाया भाखड़ा डैम कीरतपुर साहिब वापस चले गए। उल्लेखनीय है कि पिछले 3 दिनों से श्री नयना देवी में लगातार रुक-रुक कर बारिश हो रही है, जिस कारण भूस्खलन का खतरा बना है।

नेशनल हाईवे-5 पर हुआ भूस्खलन।
नेशनल हाईवे-5 पर हुआ भूस्खलन।

शोघी के पास चलती गाड़ी पर गिरे पत्थर, दो घायल

गुरुवार देर शाम 8 बजे के करीब शोघी के पास चलती गाड़ी पर पत्थर गिर गए, जिससे वाहन सड़क पर ही पलट गया। वाहन में 2 लोग सवार थे, जिन्हें गंभीर चोटें आईं। आईजीएमसी में उन्हें उपचार के लिए ले जाया गया। लेकिन वाहन पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया। सड़क पर पत्थर गिरने का सिलसिला भी जारी है। मलबा हटा दिया गया है। वाहनों की आवाजाही काफी देर तक बाधित रही। लेकिन मलबा हटाने के बाद यहां से वाहनों की आवाजाही सुचारू हो चुकी है।

सिरमौर के नोहराधार में भी बारिश का तांडव

पिछली रात से लगातार हो रही बारिश ने नोहराधार क्षेत्र में तबाही मचाई। सड़कें अवरुद्ध हो गई हैं। वहीं कई घरों, स्कूल में पानी घुसने से आफत आ गई है। लानाचेता पंचायत के बसाली में पीछे से मलबा आने से स्कूल में पानी घुस गया। एक गाड़ी मलबे में बह गई। बसाली स्कूल की पीछे से दीवार ढहने से स्कूल गिरने का खतरा है। लगातार हो रही बारिश से किसानों की फसलें बर्बाद हो गई।

शिमला में हो रही बारिश का एक नजारा।
शिमला में हो रही बारिश का एक नजारा।
खबरें और भी हैं...