• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Monsoon Re activated In Himachal, Apple Trees Destroyed Due To Cloudburst In Kullu, Standing Crops Ruined In Sirmaur

चंडीगढ़-मनाली नेशनल हाईवे पर लैंडस्लाइड:वाहनों की आवाजाही पूरी तरह से ठप, सुबह कुल्लू व सिरमौर में बादल फटने ने हुआ था भारी नुकसान

शिमला/कुल्लूएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
चंडीगढ़- मनाली नेशनल हाईवे-21 पर गिरे पत्थर। - Dainik Bhaskar
चंडीगढ़- मनाली नेशनल हाईवे-21 पर गिरे पत्थर।

हिमाचल प्रदेश में पिछले दिनों से हो बारिश से जन-जीवन अस्त व्यस्त हैं और पहाड़ियों से मलबा गिरने का सिलसिला भी लगातार जारी है। ताजा मामले में चंडीगढ़- मनाली नेशनल हाईवे-21 पर 7 मिल के समीप भूस्खलन के कारण हाइवे बंद हो गया है और यहां से गाड़ियों की आवाजाही पूरी तरह से ठप हो गई है। मार्ग को खोलने में अभी लगभग 3 से 4 घंटे लग सकते हैं।

वहीं जिला प्रशासन द्वारा यात्रियों से आग्रह किया गया है कि हाईवे पर आगामी सूचना तक यात्रा ना करें। मामले की पुष्टि उपायुक्त मंडी अरिंदम चौधरी ने की है। उधर, एसपी मंडी शालिनी अग्निहोत्री ने बताया कि मौके पर पुलिस जवान तैनात कर दिए गए हैं और हाईवे को खोलने का कार्य किया जा रहा है।

इससे पहले मंगलवार सुबह कुल्लू, सिरमौर जिलों में बादल फटने की घटना सामने आई। जिससे यहां पर लोगों की जमीन और फसलों समेत सेब के बगीचों को नुकसान पहुंचा। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला की ओर से भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। 21 सितंबर तक कई जिलों में बारिश का अलर्ट है। मंडी, कांगड़ा, सोलन, सिरमौर में भारी बारिश को लेकर चेतावनी जारी की गई है।

मनाली के बुरुआ गांव में आधी रात को आई बाढ़
मनाली के बरुआ में रात को भारी बारिश से जगह-जगह नुकसान हुआ। पर्यटन नगरी मनाली के बुरुआ गांव में आधी रात को बाढ़ आ गई। बाढ़ आने से गांव में अफरा-तफरी मच गई। बाढ़ का पानी व मलबा गांव में रिहायशी इलाके में घुस गया। स्थानीय लोगों के घरों और बगीचों में दलदल आ गया। हालांकि इस दौरान कोई जानी नुकसान नहीं हुआ। बुरुआ पंचायत के वार्ड 6 और 4 के ग्रामीणों को अधिक नुकसान हुआ है। वार्ड-6 के साथ लगते नाले ने आधी रात 12 बजे गांव में भारी नुकसान पहुंचाया है।

बारिश के कारण सेब की फसल को पहुंचा नुकसान।
बारिश के कारण सेब की फसल को पहुंचा नुकसान।

अधिकारी कर रहे नुकसान का आंकलन
ग्राम पंचायत प्रधान चूड़ामणि ठाकुर ने बताया कि आधी रात जब बादल फटने से बाढ़ का पानी आया तो ग्रामीण सो रहे थे। बाढ़ के पानी की आवाज सुनकर ग्रामीण एकदम से जागे। वार्ड 4 और 6 के लोगों को अधिक नुकसान हुआ है। बादल फटने के मामले की जानकारी प्रशासन तक पहुंचा दी गई है। मनाली के तहसीलदार एनएस वर्मा ने बताया कि वह घटनास्थल का दौरा कर रहे हैं। लोगों के घरों और बगीचों में बाढ़ का पानी घुसने से नुकसान हुआ है, जिसका आंकलन किया जा रहा है।

घरों के आसपास जमा हुआ बारिश से आया मलबा।
घरों के आसपास जमा हुआ बारिश से आया मलबा।

सिरमौर के चमयार गांव में भी फटा बादल
सिरमौर जिले में भी बारिश ने भारी तांडव मचाया है। चमयार गांव में भी बादल फटा है। राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की ओर से जारी सूचना के अनुसार, यह गांव नाहन तहसील के तहत आता है। यहां पर ग्रामीणों की अधिकांश जमीनें और फसल बर्बाद हो गई है। किसी इंसान के हताहत होने की सूचना नहीं है। जिला प्रशासन भी यहां पर नुकसान का आंकलन करने में जुट गया है।

शिमला में दो दिन से हो रही लगातार बारिश
देश की राजधानी शिमला में दो दिन से लगातार बारिश हो रही है। बारिश की वजह से यहां पर लोगों को ठंड का एहसास होना शुरू हो गया है। लेकिन बारिश के कारण कई स्थानों पर छोटा-मोटा लैंडस्लाइड हुआ है। हालांकि कोई रास्ता अवरूद्ध नहीं हुआ है। लेकिन जगह-जगह धुंध पड़ने से वाहन चलाने में भी दिक्कत हुई है।

खबरें और भी हैं...