हिमाचल प्रदेश में स्क्रब टाइफस से युवक की मौत:सिरमौर के पांवटा साहिब अस्पताल में मरीज ने दम तोड़ा, गिरीपार क्षेत्र से आ रहे ज्यादा मरीज; ग्रामीणों में दहशत का माहौल

शिमला/नाहन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पांवटा साहिब अस्पताल में स्क्रब टाइफस के मरीजों का चल रहा उपचार। - Dainik Bhaskar
पांवटा साहिब अस्पताल में स्क्रब टाइफस के मरीजों का चल रहा उपचार।

हिमाचल में कोरोना वायरस के बाद स्क्रब टाइफस ने पांव पसारना शुरू कर दिया है। सिरमौर जिला के पांवटा साहिब अस्पताल में एक संक्रमित मरीज ने उपचार के दाैरान दम तोड़ दिया है। इससे पहले आईजीएमसी शिमला में भी 3 स्क्रब टाइफस मरीजों की मौत हो चुकी है। लोग बीमारी को लेकर डर गए हैं, वहीं डॉक्टर भी लोगों को एहतियात बरतने और समय पर अस्पताल पहुंचने की सलाह दे रहे हैं, ताकि समय रहते पहुंचने से मरीज की जान बच सके।

सिरमौर के तहत आने वाले गिरिपार के ग्रामीण क्षेत्र स्क्रब टाइफस बीमारी से पीड़ित लोग अस्पताल पहुंच रहे हैं। यहां पर बीमारी से एक युवक की मौत हो गई है, जबकि 3 लोग स्क्रब टाइफस से संक्रमित है। इनमे से 1 व्यक्ति का इलाज पांवटा साहिब अस्पताल में चल रहा है।

जानकारी के अनुसार तिलोर धार ब्लॉक के तहत ग्राम पंचायत जामना के गांव पभार में स्क्रब टाइफस के मामले सामने आ रहे है। कुछ दिन पहले गांव के एक युवा की स्क्रब टाइफस के कारण इलाज के दौरान मौत हो गई। उनका पीजीआई चंडीगढ़ में इलाज चल रहा था। युवक की मौत के बाद गांव मे दहशत का माहौल है। इस मौत के बाद अब फिर से तीन लोग स्क्रब टाइफस से पीड़ित है। इस बीमारी से पीड़ित एक व्यक्ति का पांवटा साहिब के निजी अस्पताल में उपचार चल रहा है।

किसानों को जाना पड़ रहा खेतों में
ग्रामीणों का कहना है कि आजकल किसान का खेतों में टमाटर, अदरक, मिर्च, मक्की की फसलों का काम चल रहा हैं। ग्राम पंचायत के प्रधान सुरेश कुमार का कहना है कि गांव के लोग इस बीमारी के कारण दहशत में है। इस बीमारी से कई लोग पीड़ित हैं, जिस कारण से किसान परेशान है। स्वास्थ्य विभाग को इस ओर ध्यान देना चाहिए।

सिरमौर का गिरीपार क्षेत्र जहां पर लोग स्क्रब टाइफस की चपेट में आ रहे।
सिरमौर का गिरीपार क्षेत्र जहां पर लोग स्क्रब टाइफस की चपेट में आ रहे।

समय पर अस्पताल पहुंचने से मरीज हो जाता है ठीक
इस बारे बीएमओ अजय देओल का कहना है कि इस बीमारी से पीड़ित लोग अस्पताल पहुंच रहे हैं। उन्होंने कहा कि स्क्रब टाइफस से बचने के लिए जब भी खेतों या घास वाले स्थानों पर जाएं तो हाथ व पांव ढंके हुए हो। यह बीमारी एक पिस्सू के कारण होती है। जब यह हाथ या पांव मे काटता है। तो बीमारी फैल जाती है। इसके संपर्क में आने के बाद बुखार होता है। लेकिन अगर समय पर बीमारी का पता चल जाए तो मरीज जल्द ठीक हो जाता है।

खबरें और भी हैं...