पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Mustard Oil Had Already Become Expensive For June, Supply Did Not Come In Depot Even In May, Consumers Are Facing Problems

महंगाई की मार:जून के लिए पहले ही महंगा हो गया था सरसों का तेल, मई में भी नहीं आई डिपो में सप्लाई, उपभोक्ताओं को हो रही परेशानी

शिमला24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

सरकार ने सरकार राशन के डिपुओं पर मिलने वाले तेल महंगा कर दिया है। जून से लोगों को डिपुओं में 57 रुपए प्रतिलीटर सरसों का तेल महंगा मिलेगा। इससे अब उपभाेक्ताओं काे काेराेना संकट में महंगाई की मार भी झेलनी पड़ेगी। बताया जा रहा है कि सरकार ने हरियाणा की सरकारी एजेंसी हैफेड के साथ एक महीने के लिए सरसों तेल का शार्ट टेंडर किए हैं।

मई माह में शिमला ग्रामीण के कई डिपुओं में सरसाें का तेल नहीं मिला। लाेगाें काे इससे काफी दिक्कतें झेलनी पड़ी। उन्हें बाजार से महंगे दामाें पर तेल खरीदना पड़ा। जहां डिपुओं में अभी तक 103 रुपए प्रति लीटर तेल मिल रहा था, ताे उपभाेक्ताओं काे बाजार से 190 से 210 रुपए प्रतिलीटर तक तेल खरीदना पड़ा। इसके अलावा अभी जून में भी तेल मिलने पर संशय है। हालां रिफाइंड के भी अभी टेंडर नहीं हुए हैं, ऐसे में सप्लाई नहीं मिली है।

किसे कितने का मिलेगा तेल

प्रदेश के एपीएल राशनकार्ड उपभोक्ताओं को डिपुओं में मई माह में 103 रुपए प्रतिलीटर सरसों तेल दिया गया। जून माह में उन्हें 160 रुपए प्रतिलीटर चुकाने होंगे, जबकि बीपीएल राशनकार्ड धारकों को 155 रुपए चुकाने होंगे। डिपुअाें पर अगले माह से दालें भी महंगी मिलेगी इसमें दालें भी 5 से 15 रुपए तक महंगी हुई है।

चना दाल बीपीएल के लिए 45 रुपए प्रति किलो, एपीएल के लिए 55 और आयकरदाता को 76 रुपए प्रतिकिलो मिलेगी। वहीं, मलका दाल बीपीएल के लिए 60 रुपए, एपीएल के लिए 70 और आयकरदाता को 88 रुपए प्रतिकिलो मिलेगी। दाम बढ़ने का कारण मालभाड़ा और लेबर की दिहाड़ी में इजाफा होना कहा जा रहा है।

छह माह में दूसरी बार बढ़े दाम

डिपुओं पर मिलने वाले तेल के बीते छह माह में कई बार दाम बढ़ा दिए गए हैं। पहले डिपुओं पर तेल 78 रुपए का मिलता था। फिर उसे 103 रुपए एपीएल उपभाेक्ताओं के लिए कर दिया था। जबकि 98 रुपए बीपीएल और अंताेदय वालाें काे दिया जा रहा था। मगर अब फिर से डिपुओं पर मिलने वाले तेल के दाम बढ़ा दिए गए हैं।

अब फिर से 57 रुपए की बढ़ाेतरी करने से उपभाेक्ताओं पर महंगाई की मार पड़ेगी और उन्हें काेराेना के इस संकट में बाजार से महंगा तेल खरीदने के लिए मजबूर हाेना पड़ेगा। उससे पहले डिपुओं पर रिफाइंड तेल भी महंगा किया गया था। अभी डिपुओं पर रिफाइंड तेल 109 रुपए में दिया जा रहा है।

जिले में हैं 96 हजार कार्ड हाेल्डर्स

प्रदेश के 18 लाख उपभाेक्ताओं के साथ-साथ अब जिला शिमला में करीब 96 हजार कार्ड हाेल्डर हैं। जिन पर तेल के दाम बढ़ने का सीधा असर पड़ेगा। उन उपभाेक्ताओं काे अब महंगाई के इस दाैर में महंगा तेल खरीदना पड़ेगा। डिपुओं पर अभी दाे पैकेट तेल के दिए जा रहे हैं, ऐसे में एक पैकेट पर 57 रुपए की बढ़ाेतरी हुई है ताे उपभाेक्ताओं काे सीधे ताैर पर दाे पैकेट के 114 रुपए अधिक चुकाने हाेंगे।

इसके अलावा दालाें के महंगे हाेने से भी उपभाेक्ता परेशान हाेंगे। एपीएल कार्ड धारकाें काे डिपुओं पर करीब 650 रुपए का अभी राशन मिल रहा है, जून माह में उन्हें उतने ही राशन के करीब 800 रुपए चुकाने हाेंगे। जिससे उनकी जेब पर सीधा असर पड़ेगा।

खबरें और भी हैं...