पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

वाया कालीहट्टी होकर घणाहट्टी भेजे जा रहे वाहन:नेशनल हाईवे-205 घंडल राेड अभी भी बंद, ट्रैफिक किया डाइवर्ट

शिमला13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
वजीर बावड़ी में फिर पहाड़ी दरकने से यातायात ठप। - Dainik Bhaskar
वजीर बावड़ी में फिर पहाड़ी दरकने से यातायात ठप।

नेशनल हाईवे 205 घंडल के पास अभी भी बंद हैं। शिमला-धर्मशाला नेशनल हाईवे पर यातायात पूरी तरह से बाधित है। लोगों को वाया कालीहट्टी होकर घणाहट्टी भेजा जा रहा है। फिलहाल अभी हाईवे को बहाल करने में कई दिनों का समय लग सकता है। क्योंकि हाईवे पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो चुका है। इससे पहले भी यहां पर हाईवे क्षतिग्रस्त हुआ था। उसके बाद डंगा लगाकर इसे दुरुस्त किया गया था, लेकिन भारी बारिश के कारण डंगे समेत हाईवे पूरा टूट गया।

शिमला से धर्मशाला आने जाने के लिए नेशनल हाईवे 205 का प्रयोग किया जाता है। ऐसे में इस हाईवे पर ट्रैफिक का लोड काफी ज्यादा रहता है। वहीं, रोजाना शिमला आने जाने वाले लोकल लोग भी इसी हाईवे से होकर आते जाते हैं। हाईवे के टूट जाने से अब सबसे ज्यादा परेशानी लोकल लोगों को हो रही है, जिन्हें 15 किलोमीटर घूमकर पहुंचना पड़ रहा है।

पहले जहां धामी से घणाहट्टी पहुंचने के लिए 15 मिनट लगते थे, अब 1 घंटे का समय लग रहा है।डीसी शिमला आदित्य नेगी ने मंगलवार काे घंडल में हुए भूस्खलन क्षेत्र का दौरा किया और स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण को इस सड़क को जल्द से जल्द दुरुस्त करने के निर्देश दिए।

वजीर बावड़ी में फिर दरकी पहाड़ी, यातायात ठप
रामपुर बुशहर| निरमंड खंड की 32 पंचायतों को जोड़ने वाले वजीर बावड़ी-निरमंड मार्ग पर पहाड़ी से भारी भूस्खलन से यातायात ठप हो गया है। मंगलवार को भी पहाड़ी से भूस्खलन होने के कारण मार्ग बहाली का कार्य शुरू नहीं हो पाया। ऐसे में हजारों ग्रामीणों को वाया बायल होकर करीब 12 किलोमीटर अतिरिक्त सफर तय करना पड़ रहा है। वजीर बावड़ी के पास सोमवार दोपहर बाद मार्ग पर पहाड़ी से भूस्खलन का सिलसिला शुरू हो गया था। लोनिवि के एसडीओ उदय कौशल ने बताया कि मार्ग बहाल करने के लिए मंगलवार को दो मशीनें तैनात कर दी थी, लेकिन बार-बार भूस्खलन होने से कार्य प्रभावित हो रहा है। बुधवार सुबह से मार्ग बहाली का कार्य शुरू किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...