• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Navratri Fair Will Be Held In Bala Sundari Temple Of Sirmaur After Two Years, Temple Trust Is Busy In Preparations, Devotees Will Not Be Able To Offer Prasad

प्रसिद्ध माता बाला सुंदरी मंदिर में मेले की तैयारियां:7 से 20 अक्टूबर तक चलेगा नवरात्र मेला, श्रद्धालु नहीं चढ़ा सकेंगे प्रसाद और न ही लगा सकेंगे लंगर

शिमला/नाहन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
2 साल बाद मां बाला सुंदरी में नवरात्र मेले का आयोजन हो रहा है। - Dainik Bhaskar
2 साल बाद मां बाला सुंदरी में नवरात्र मेले का आयोजन हो रहा है।

सिरमौर के प्रसिद्ध माता बाला सुंदरी मंदिर में दो साल बाद नवरात्र मेले का आयोजन किया जा रहा है। यह मेला 7 से 20 अक्टूबर तक चलेगा। कोविड को देखते हुए प्रशासन ने यहां पर कई तरह के प्रतिबंध भी लगाए हैं।न वरात्र मेले का दौरान श्रद्धालु यहां पर लंगर नहीं लगा सकेंगे। भक्तों को प्रसाद चढ़ाने पर भी पाबंदी रहेगी। साथ ही श्रद्धालु यहां पर लंगर भी नही लगा पाएंगे। मंदिर न्यास ने मेले की तैयारियां जोरो शोरों से कर दी है। मंदिर को सजाया जा रहा है।

महामाया बाला सुंदरी के दरबार में नवरात्र मेले का आयोजन 2 साल के बाद हो रहा है। मेले के प्रभावी प्रबंधन को लेकर मेला क्षेत्र को चार सेक्टरों में विभाजित किया जाएगा। प्रत्येक सेक्टर में ड्यूटी मजिस्ट्रेट और पुलिस अधिकारी नियुक्त रहेंगे। मेले के दौरान कानून एवं व्यवस्था और ट्रैफिक व्यवस्था के लिए होमगार्डों की भी तैनाती रहेगी। मेले के दौरान ट्रैफिक व्यवस्था को इस तरीके से बनाया जाएगा। जिससे त्रिलोकपुर के स्थानीय निवासियों को भी असुविधा का सामना ना करना पड़े।​​​​​​

बाला सुंदरी मंदिर के गर्भ गृह को सजाते हुए।
बाला सुंदरी मंदिर के गर्भ गृह को सजाते हुए।

बाहरी राज्यों से आते है श्रद्धालु
माता बाला सुंदरी मंदिर त्रिलोकपुर में नवरात्र मेले के दौरान हिमाचल के अलावा हरियाणा, पंजाब, दिल्ली, राजस्थान, उत्तराखंड व उत्तर प्रदेश से भारी संख्या में श्रद्धालु पहुचते हैं। 2 वर्ष से पूजन पर रोक होने के कारण इस बार ज्यादा भीड़ होने का अनुमान है। जिसको लेकर प्रशासन अपनी तैयारियों में जुटा हुआ है। इस बारे में तहसीलदार माया राम शर्मा ने बताया कि सरकार द्वारा जारी एसओपी के अनुसार मेले की तैयारियां की जा रही है। मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं को नियमों का पालन करना होगा।

नहीं लगा सकेंगे लंगर
सरकार द्वारा जारी कोविड-19 गाइडलाइन के अनुसार मेले कि तैयारियां की जा रही है। मेले के दौरान मंदिर परिसर में खाने के अलावा प्रसाद चढ़ाने पर भी रोक रहेगी। यहां पर श्रद्धालु लंगर भी नही लगा पाएंगे। मंदिर परिसर में आने वाले श्रद्धालुओं की थर्मल स्केनिंग की जाएगी। आशंका होने पर मौके पर कोविड टेस्ट करवाया जाएगा। मंदिर में दर्शन करने के लिए श्रद्धालुओं को सरकार की ओर से जारी एसओपी का पालन करना होगा।

खबरें और भी हैं...