पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बर्फबारी से परेशानी:न सड़कें खुली न बिजली बहाल हुई, बसें भी नहीं चली

शिमलाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फागू के पास एनएच पांच पर ट्रैफिक शुक्रवार को बंद रहा, आज दोपहर तक खुलेगा। - Dainik Bhaskar
फागू के पास एनएच पांच पर ट्रैफिक शुक्रवार को बंद रहा, आज दोपहर तक खुलेगा।
  • बर्फबारी के दूसरे दिन भी मुश्किलें बरकरार, कई इलाकों में 24 घंटे से बिजली गुल, सिर्फ कार्ट रोड ही खाेल पाए

बर्फबारी के दूसरे दिन भी लाेगाें की दिक्कतें बनी हुई हैं। कई क्षेत्राें में 24 घंटे से बिजली बंद है। जबकि शहर के कार्ट रोड और कालका शिमला एनएच शाेघी और मनाली शिमला घणाहट्टी की सड़कें दाेपहर तक खाेल दी गई थी। शिमला हाटकाेटी मार्ग अभी बंद है। इसके अलावा शहर के उपनगराें काे जाेड़ने वाली कई एंबुलेंस रोड बंद हैं।

जाे सड़कें खाेली गई हैं, उस पर भी अभी बसें नहीं चल रही हैं। महज लाेग अपनी प्राइवेट गाड़ियाें में ही सफर कर रहे हैं। इन सड़काें पर भी अभी काफी ज्यादा फिसलन है। हालांकि, कुछ जगहाें पर रेत-मिट्टी बिछाई गई, लेकिन इसके बावजूद वाहनाें काे चलाने में परेशानी आ रही है। कुफरी, ठियोग, कोटखाई, खड़ापत्थर, जुब्बल, हॉटकोटी, रोहडू, चिढ़गांव, डोडरा क्वार, नारकंडा और चौपाल मार्ग के ग्रामीण क्षेत्राें की अधिकतर सड़कें बंद हैं। डाेडरा क्वार शेष दुनिया से कट गया है।

शहर में बिजली के बंद रहने से लाेगाें काे खासी दिक्कताेंं का सामना करना पड़ा। बीते वीरवार दाेपहर दाे बजे से आधे शहर में बिजली बंद थी, जिसे शुक्रवार देर शाम पांच बजे बहाल किया गया। पूरे शहर में रुक रुक कर कट लगते रहे। इससे लाेगाें काे परेशानी हुई। इसी तरह पानी की सप्लाई आज से प्रभावित हाे सकती है। क्याेंकि, माैसम साफ रहा ताे ठंड के चलते पाइपें जाम हाेंगी, इससे पानी की सप्लाई नियमित ताैर पर नहीं हाे सकेगी।

शहर में पैदल चलना अभी भी खतरे से खाली नहीं
ताजा बर्फबारी के कारण लोगों को शहर में पैदल चलना मुश्किल हो गया। पैदल चलने वाले रास्तों पर बर्फ जमी हुई है। रिज मैदान पर नगर निगम ने बर्फ को एक तरफ से हटा दिया, लेकिन लक्कड़ बाजार और मुख्य बस स्टैंड को जाने वाले रास्तों पर अभी भी बर्फ जमीं हुई है।

सुबह और शाम के समय रास्तों पर कोहरा अधिक जमने से लोगों को चलने में दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। आईजीएमसी मार्ग पर भी बर्फ जमने से मरीजों और तीमारदारों को अस्पताल पहुंचने में खासी मशक्कत करनी पड़ रही है। लक्कड़ बाजार में कोहरा जमने से भी दिक्कतें बढ़ी हैं।

शहर की ऐसी स्थिति

  • कालका-शिमला एनएच: इस एनएच काे सुबह 11 बजे तक खाेल दिया गया था। हालांकि, इस मार्ग पर ज्यादा बर्फबारी नहीं हुई है, इसके बावजूद लोकल बसें नहीं चली। शुक्रवार काे दाेपहर बाद लॉन्ग रूट की बसें चली।
  • शिमला-मनाली एनएच: शाम पांच बजे के बाद ही कुछ लोकल बसें इस रूट पर चलाई गई। शिमला से लॉन्गरूट पर जाने वाले यात्री परेशान हुए।
  • शिमला-हाटकाेटी: ढली से ऊपर का मार्ग बंद हैं। राेहड़ू, रामपुर और चाैपाल के लिए बसाें काे अभी बंद किया गया है। शनिवार काे दाेपहर तक इस मार्ग के खुलने की संभावना है।
  • कार्ट राेड: यहां सिर्फ निजी वाहन चल रहे हैं। बसाें की आवाजाही पूरी तरह से बंद हैं। एचआरटीसी और प्राइवेट बस ऑपरेटराें ने पूरे दिनभर बसाें काे नहीं चलाया।
  • बिजली की स्थिति: कुनिहार से जाठिया देवी टुटू होते हुए पूरे शिमला में बिजली की सप्लाई आती है। लेकिन ये लाइन भी कई जगह टूट गई है। जतोग में बिजली की तारों पर पेड़ गिरे हुए हैं। इसी तरह संकट माेचन और ब्याैलिया में भी तारें टूटी हुई हैं। टुटू और हीरानगर क्षेत्र की सप्लाई शुक्रवार शाम तक बहाल नहीं हाे पाई थी।
  • बर्फबारी से शहर में कई जगह गिरे पेड़ और खंभेः शिमला शहर में बर्फबारी के बाद लगातार पेड़ गिर रहे हैं। शहर में करीब एक दर्जन पेड़ों के गिरने की सूचना है। हालांकि कुछ पेड़ जंगलों में गिरे हैं जबकि कुछ पेड़ सड़कों पर भी आए। वीरवार देर शाम को टुटीकंडी में भी दो गिर गए। इसके अलावा ओल्ड बस स्टैंड पर पंचायत घर के पास भी पेड़ गिरे हैं।
  • हालांकि पेड़ गिरने के कोई जानी नुकसान नहीं हुआ है। मगर कई जगह घरों के आसपास खतरनाक पेड़ हैं जो कि कभी भी गिर सकते हैं। इससे इन घरों में रहे लोगों में भय है। वहीं शहर में कई जगह पेड़ों की शाखाएं भी बिजली की लाइनें गिर गई हैं। कुछ जगह पूरे पेड़ ही बिजली की लाइनों पर आ गए हैं।

बर्फ पर फिसलने से गिरे 21 पहुंचे अस्पताल

शुक्रवार काे बर्फ से फिसलने से घायल होकर आईजीएमसी और रिपन में 21 लोग पहुंचे। अाईजीएमसी में 12 जबकि रिपन में 9 लाेग इलाज के लिए आए। हालांकि इसमें काेई गंभीर चाेटें नहीं आई है। इस बारे में रिपन अस्पताल के एमएस डाॅ. रमेश चाैहान ने कहा कि रिपन में 9 लाेग बर्फ पर फिसलने के बाद इलाज के लिए पहुंचे। उन्हाेंने कहा कि बर्फ पर पाला जमेगा एेसे में लाेगों को ध्यान रखना होगा।

पानी की लिफ्टिंग भी कम

बिजली बाधित होने से पेजयल परियोजनाएं भी प्रभावित हुई हैं। शुक्रवार को शिमला शहर को सभी परियोजनाओं से काफी कम पानी मिला। शहर को गुम्मा परियोजना से मात्र 13.85 एमएलडी और गिरी से 12.91 एमएलडी पानी ही मिल पाया। इसी तरह चुरट से 1.48 एमएलडी, सियोग से 0.21 एमएलडी, चेयड़ से 0.47 एमएलडी, कोटी-भरांडी से 0.25 एमएलडी पानी ही मिल पाया। इस तरह शहर की सभी परियोजनाओं से मात्र 29.17 एमएलडी पानी ही मिल पाया।

दुकानों में देर शाम तक ही पहुंचा दूध

शहर में दुकानोें तक दूध की सप्लाई देर शाम को पहुंची। सुबह सड़कों पर बर्फ की वजह से दूध की गाड़ियां शहर के अंदर तक नहीं अा पा रही थी। जिस वजह से छोटा शिमला में लोगों को दूध देर शाम को ही मिला।

शहर की मुख्य सड़कों के साथ साथ जिला शिमला कुफरी, फागू,ठियोग-नारकंडा, रामपुर और ठियोग- खड़ापत्थर और खिड़की चौपाल की सड़कों को छोटे वाहनों के लिए बहाल कर दिया है। लेकिन सुरक्षा को देखते हुए इन रूटों पर बसों की आवाजाही शुरू नहीं की गई है। जल्द ही बसों की आवाजाही शुरू हो जाएगी। बिजली, पानी की आपूर्ति बाधित हुई है जिसे सुचारू किया जा रहा है। राजधानी शिमला में दोपहर बाद दूध की आपूर्ति की गई। -आदित्य नेगी, डीसी, शिमला

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने काम संपन्न करने में सक्षम रहेंगे। सभी का सहयोग रहेगा। सरकारी कार्यों में सफलता मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए सुकून दायक रहेगा। न...

    और पढ़ें