पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

व्यवासायिक दृष्टि:नई शिक्षा नीति रोजगार देने वाली:गोविंद

शिमला11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • शिक्षा मंत्री ने कहा-2030 तक 50% युवाओं को व्यवसाय की दृष्टि से तैयार करने का है लक्ष्य

शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने कहा है कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति रोजगार देने वाली होगी। उन्होंने कहा कि इस नीति के तहत 2030 तक 50 प्रतिशत युवाओं को व्यवासायिक दृष्टि से तैयार करने का लक्ष्य तय किया है। हर हाथ को काम मिले, इसके लिए छठी कक्षा से व्यावसायिक शिक्षा से जोडा जाएगा। उन्होंने कहा कि बच्चे इस तरह से प्रशिक्षित होंगे, जो हर तरह का काम करने में सक्षम होंगे। शिक्षा मंत्री बुधवार को विधानसभा में नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को लेकर भाजपा सदस्य डॉ. राजीव बिंदल और राकेश जंवाल द्वारा नियम-130 के तहत लाए गए प्रस्ताव पर हुई चर्चा का उत्तर दे रहे थे।

गोविंद ठाकुर ने कहा कि 34 वर्ष बाद यह नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति आई है। नई शिक्षा नीति का लक्ष्य देश के विकास के लिए अनिवार्य जरूरतों को पूरा करना है। उन्होंने कहा कि त्रिभाषा फार्मूला यथावत जारी रहेगा। इस नीति में संस्कृत के अलावा विदेशी भाषाओं को भी पढ़ाया जाएगा। वर्ष 2040 तक देश में ऐसी शिक्षा व्यवस्था का ढांचा बनाया जाएगा, जो किसी से पीछे नहीं होगा।

इससे पहले, नई शिक्षा नीति को लेकर भाजपा सदस्य डॉ. राजीव बिंदल और राकेश जंवाल द्वारा नियम-130 के तहत लाए गए प्रस्ताव पर कांग्रेस सदस्य इंद्रदत्त लखनपाल ने चर्चा शुरू की। दो दिनों तक चली इस चर्चा में 20 सदस्यों ने भाग लिया और नीति को लागू करने से पहले शिक्षा के क्षेत्र में और बेहतर कदम उठाए जाने बारे अपने सुझाव दिए। उन्होंने कहा कि इस नीति में जो बातें कही गई हैं, उसे कब लागू किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति के आने के बाद कई विद्यार्थी असमंजस में हैं और उन्हें नहीं पता वे इसके तहत आएंगे या नहीं। उन्होंने कहा कि विदेशी विवि को स्थापित करने की बात कही जा रही है, तो क्या फिर से गुलामी की तरफ जाना है। उन्होंने कहा कि इस नीति में संघ का छुपा हुआ एजेंडा देश पर लागू करने का प्रयास है।

भाजपा सदस्य कर्नल इंद्र सिंह ने कहा कि आज की शिक्षा का जो विस्तार हुआ है, उसमें प्लस टू सिस्टम है, लेकिन इसमें स्वरोजगार की व्यवस्था है और इस कमी को नई शिक्षा नीति से दूर किया जाएगा। इसे बेहतर तरीके से कार्यान्वित किया जाए। उन्होंने कहा कि अब नया सिस्टम आएगा और इसमें व्यावसायिक शिक्षा भी साथ ही दी जाएगी।

शिक्षा नीति के मसौदे की सराहा... विधानसभा उपाध्यक्ष हंस राज ने कहा कि अभी तक शिक्षा को नौकरी के नजरिए से ही लिया जा रहा है, लेकिन अब समय बदल रहा है। उन्होंने कहा कि अभी तक की शिक्षा नीति में कई खामियां हैं। उन्होंने कहा कि इस नीति में स्थानीय बोलियों में पढ़ाई होगी और यह लाभदायक है। उन्होंने शिक्षा नीति के मसौदे की सराहना की। भाजपा सदस्य सुरेंद्र शौरी, बलवीर सिंह चाैधरी, कमलेश कुमारी, हीरा लाल, जिया लाल, जवाहर ठाकुर, इंद्र सिंह गांधी और रीना कश्यप ने भी इस चर्चा में हिस्सा लिया।

नीति लागू करने वाला हिमाचल देश का पहला राज्य

शिक्षा मंत्री ने कहा कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति एक डाक्यूमेंट है और विस्तृत रिपोर्ट अभी तैयार होनी है। इस नीति को लागू करने वाला हिमाचल देश का पहला राज्य बनेगा। इस नीति को लागू करने के लिए प्रदेशस्तरीय टास्क फोर्स का गठन किया गया है जो इस नीति को प्रभावी तौर से लागू करवाएगा। उन्होंने इस नीति के लिए लोगों से भी खुलेमन से सुझाव देने का आग्रह किया।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन पारिवारिक व आर्थिक दोनों दृष्टि से शुभ फलदाई है। व्यक्तिगत कार्यों में सफलता मिलने से मानसिक शांति अनुभव करेंगे। कठिन से कठिन कार्य को आप अपने दृढ़ विश्वास से पूरा करने की क्षमता रखे...

और पढ़ें