पंचायती राज विभाग की भर्ती लटकी:7 महीने हो गए, न मेरिट आई न यह तय हुआ कि टाइपिंग टेस्ट कौन करवाएगा

शिमला4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक तस्वीर - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक तस्वीर

युवाओं को रोजगार दिलाने के मामले में हिमाचल के विभागों की हालत बद से बदतर है। पंचायती राज विभाग में 7 महीने पहले पंचायत सेक्रेटरी के 239 पदाें काे भरने लिए लिखित परीक्षा करवाई गई थी, लेकिन इसकी न मेरिट बनी है और न यह तय हुआ है कि टाइपिंग टेस्ट काैन-सी एजेंसी करेगी।

18 दिसंबर 2020 को पंचायती राज विभाग ने पदाें काे भरने के लिए विज्ञापन निकाले। विभाग ने परीक्षा करवाने का जिम्मा यूनिवर्सिटी काे दिया। HPU ने 22 अक्टूबर 2021 को पंचायत सेक्रेटरी के पदाें काे भरने के लिए एग्जाम करवाया। 26 हजार अभ्यर्थियाें ने इस परीक्षा में भाग लिया।

इसके बाद 5 अप्रैल 2022 काे HPU ने रिजल्ट घाेषित किया। 5 अप्रैल से लेकर अब तक इसकी न ताे मेरिट बनी है और न ही टाइपिंग टेस्ट की डेट तय हुई है। भर्ती प्रक्रिया शुरू हुए 7 महीने हो गए हैं, लेकिन भर्ती प्रक्रिया आगे ही नहीं बढ़ रही। 26 हजार युवाओं का भविष्य लटक गया है।

मेरिट काैन बनाएगा, यह तय ही नहीं?

पंचायती राज विभाग और HPU में परीक्षा काे लेकर विवाद है। भर्ती की मेरिट एचपीयू बनाएगा या पंचायती राज विभाग, यह तय नहीं हो रहा। टाइपिंग टेस्ट किस एजेंसी से करवाना है, यह भी तय नहीं है। एचपीयू परीक्षा रिकाॅर्ड पंचायती राज विभाग काे दे रहा है, लेकिन पंचायती राज विभाग इसकाे लेने से इनकार कर रहा है।

काेई विवाद नहीं है, हम काम कर रहे हैं

हिमाचल प्रदेश पंचायती राज डिपार्टमेंट के एडिशनल डाॅयरेक्टर केवल शर्मा का कहना है कि किसी तरह का काेई विवाद नहीं है। जल्द ही हम मेरिट सूची बना लेंगे और इसके बाद टाइपिंग टेस्ट के लिए एजेंसी भी तय कर लेंगे।

रिजल्ट संबंधी रिकाॅर्ड नहीं ले रहा पंचायती राज विभाग

HPU के डीन ऑफ स्टडीज प्राे. कुलभूषण चंदेल का कहना है कि हमने रिजल्ट काफी पहले निकाल दिया है। पंचायती राज विभाग को कई बार परिणाम संबंधित रिकॉर्ड लेने का आग्रह किया गया है, लेकिन उन्हाेंने अभी तक रिकॉर्ड नहीं लिया है। मेरिट अभी नहीं बनी है।