• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • North India Shivered Due To Snowfall In Himachal Pradesyh, Temperature In Neighboring States Reduced By 3 To 4 Degrees

हिमाचल में बर्फबारी से दिल्ली तक ठंडी होंगी रातें:पंजाब-हरियाणा में 3 से 4 डिग्री गिरा तापमान, दीवाली से पहले और लुढ़केगा पारा

शिमलाएक वर्ष पहले

हिमाचल प्रदेश के ऊपरी इलाकों में हुई बर्फबारी का असर पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और दिल्ली तक नजर आ रहा है। यहां पर तापमान 3 से 4 डिग्री तक गिर गया है। इस बर्फबारी के चलते मैदानी इलाकों में रातें अब तेजी से ठंडी होंगी। सुबह-शाम के समय तापमान में भी गिरावट आएगी। उधर हिमाचल में 18 अक्टूबर सोमवार को भी मौसम खराब बना हुआ है और ऊपरी पहाड़ियों पर ताजा बर्फबारी हो रही है।

शिमला में मौसम विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिक सुरेंद्र पाल के अनुसार, हिमाचल में ताजा बर्फबारी और बारिश का दौर 19 अक्टूबर तक चलेगा। इसकी वजह से हिमाचल के सभी इलाकों में तापमान में तेजी से गिरावट आएगी। दीवाली से पहले हिमाचल प्रदेश से लगते पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ के साथ-साथ नई दिल्ली और राजस्थान में भी इस बर्फबारी की वजह से ठंड बढ़ जाएगी।

3 से 4 डिग्री गिरा न्यूनतम तापमान
मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार, हिमाचल में हुई ताजा बर्फबारी के चलते मैदानी इलाकों और निचले राज्यों में न्यूनतम तापमान तीन से चार डिग्री गिर गया है। चंडीगढ़ में इस समय न्यूनतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस चल रहा है जो आने वाले दिनों में और कम होगा। पंजाब के अमृतसर में भी इस समय रात का तापमान 26 डिग्री के आसपास चल रहा है। इसमें भी गिरावट दर्ज की जाएगी। पंजाब के अन्य शहरों जैसे पठानकोट, लुधियाना, पटियाला, बठिंडा, जालंधर और गुरदासपुर में भी सुबह-शाम के समय हल्की ठंड का अहसास होने लगेगा। हरियाणा में भी हिमाचल में हुई बर्फबारी का असर देखने को मिल रहा है और यहां अगले 2 दिन में तापमान में और गिरावट आएगी। अम्बाला में तो इस बर्फबारी के चलते तापमान 6 से 7 डिग्री तक गिरने की उम्मीद है। हिसार में 4 डिग्री, सिरसा में 7 डिग्री और कैथल में 8 डिग्री तक पारा गिर सकता है।

दिल्ली में भी बर्फबारी का असर
हिमाचल प्रदेश के ऊपरी इलाकों में हुई ताजा बर्फबारी का असर दिल्लीवालों को भी महसूस होगा। अगले एक-दो दिन में यहां सुबह-शाम का तापमान गिरेगा और रातें भी ठंडी होंगी। दीवाली आने तक दिल्ली में रात की सर्दी बढ़ जाएगी।

ऊंचे क्षेत्रों में बर्फबारी का सीधा असर मैदानों पर
मौसम विशेषज्ञ सुरेंद्र पाल के अनुसार, ऊंचे पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फबारी होने का सीधा असर मैदानी इलाकों में पड़ता है। यूं तो हिमाचल के लाहौल-स्पीति, रोहतांग और दूसरे इलाकों में हुई बर्फबारी का असर पूरे नॉर्थ इंडिया में दिखेगा लेकिन बिल्कुल सटा होने की वजह से चंडीगढ़ और इसके आसपास के एरिया में हफ्तेभर में सुबह-शाम के समय ठंड बढ़ने लगेगी।

जितनी ज्यादा बर्फबारी, आने वाले समय के लिए उतना अच्छा
मौसम विभाग का मानना है कि इस समय ऊंचे पहाड़ी इलाकों में जितनी ज्यादा बर्फबारी होगी, वह आने वाले समय के लिए उतनी ही अच्छी रहेगी। यही बर्फ अगले साल गर्मी के सीजन में पिघलकर पानी के रूप में नदियों के जरिये बांधों में पहुंचेगी। ताजा बर्फबारी हिमाचल में सेब वाले इलाकों के लिए भी अच्छी है।

हिमाचल में बाहरी राज्यों से पहुंचे सैलानी।
हिमाचल में बाहरी राज्यों से पहुंचे सैलानी।

वेस्टर्न डिस्टरबेंस और नॉर्थ ईस्ट मानसून के मिलन से बर्फबारी

शिमला में मौसम विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिक सुरेंद्र पाल के अनुसार, हिमाचल में इस समय वेस्टर्न डिस्टरबेंस एक्टिव है जो एक-आध दिन और सक्रिय रहेगा। इस वेस्टर्न डिस्टरबेंस के साथ नॉर्थ ईस्टर्न मानसून की हवाएं टकराने के बाद तापमान गिरा और बर्फबारी शुरू हो गई। नॉर्थ इंडिया के कुछ इलाकों में जहां मानसून की बारिश नहीं होती, वहां नॉर्थ ईस्टर्न मानसून से बरसात होती है। इन्हीं हवाओं के हिमालय पहुंच जाने की वजह से हिमाचल के ऊपरी इलाकों में ताजा बर्फबारी और मैदानों में बरसात हाे रही है।

खबरें और भी हैं...