• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • On Increasing Arbitrary Fees, The Members Of The Student Guardian Forum Held A 2 hour Demonstration, Officials Had To Come To The Gate

बढ़ाई फीस को लेकर अभिभावको का विरोध प्रदर्शन:मनमानी फीस बढ़ाने पर छात्र अभिभावक मंच के सदस्यों ने घेरा निदेशालय, 2 घंटे प्रदर्शन, अधिकारियाें काे आना पड़ा गेट पर

शिमला6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शिक्षा निदेशालय का घेराव करते छात्र अभिभावक मंच के पदाधिकारी। - Dainik Bhaskar
शिक्षा निदेशालय का घेराव करते छात्र अभिभावक मंच के पदाधिकारी।
  • मंच का आरोप बिना जनरल हाउस के बढ़ाई फीस, निदेशालय पहुंचे तो दोनों गेट कर दिए गए बंद

छात्र अभिभावक मंच के बैनर तले दयानंद पब्लिक स्कूल व अन्य स्कूलों के अभिभावक शिक्षा निदेशालय के बाहर एकत्रित हुए व स्कूल की ट्यूशन फीस में 55 प्रतिशत फीस बढ़ोतरी को वापस लेने की मांग पर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान अभिभावक शिक्षा निदेशक से अपनी मांगों के संदर्भ में बातचीत करना चाह रहे थे परंतु अभिभावकों को देखकर शिक्षा निदेशालय के अधिकारियों ने कार्यालय के दोनों गेट बंद कर दिए।

इस पर अभिभावक उग्र हो गए व उन्होंने इस पर आपत्ति जाहिर की। वे निदेशक से बातचीत करने की मांग पर अड़े रहे। इसके बाद उच्चतर शिक्षा निदेशक कार्यालय के मुख्य गेट पर अतिरिक्त शिक्षा निदेशक व अन्य अधिकारियों के साथ आए व मंच के पदाधिकारियों और अभिभावकों से बातचीत की।

इस दौरान उन्होंने आश्वासन दिया कि निजी स्कूलों पर मनमानी फीस वसूलने के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इसके पश्चात ही दो घंटे से चल रहा प्रदर्शन समाप्त हुआ। मंच के संयोजक विजेंद्र मेहरा, मंच के सदस्य भुवनेश्वर सिंह, कमलेश वर्मा, रमेश शर्मा, राजेश पराशर व अंजना मेहता ने कहा है कि सुबह साढ़े ग्यारह बजे अभिभावक शिक्षा निदेशालय परिसर के बाहर एकत्रित हुए व जोरदार नारेबाजी की।

उन्होंने शिक्षा निदेशक से मांग की है कि वह तुरंत दयानंद पब्लिक स्कूल व अन्य सभी निजी स्कूलों के मामले में हस्तक्षेप करें व पांच दिसंबर 2019 की शिक्षा निदेशालय की अधिसूचना को लागू करवाएं। यह अधिसूचना वर्ष 2019 में जारी हुई थी व इसमें स्पष्ट किया गया था कि वर्ष 2020 व उसके तत्पश्चात कोई भी निजी स्कूल अभिभावकों के जनरल हाउस के बगैर कोई भी फीस बढ़ोतरी नहीं कर सकता है।

यह जड़े आराेप

अभिभावकाें ने आराेप लगाया कि डीपीएस प्रबंधन ने नर्सरी व केजी कक्षा की फीस को एक हजार नौ सौ से बढाकर दो हजार आठ सौ पचास रुपए, पहली से पांचवीं कक्षा तक की प्रतिमाह टयूशन फीस दो हजार से बढ़ाकर तीन हजार रुपए, छठी से आठवीं कक्षा की फीस को दो हजार एक सौ से बढ़ाकर तीन हजार दो सौ पचास रुपए और नौंवीं-दसवीं कक्षा की प्रतिमाह फीस को दो हजार दो सौ पचास रुपए से बढ़ाकर तीन हजार पांच सौ रुपए कर दिया है।

इस तरह वार्षिक बारह हजार रुपए से पंद्रह हजार रुपए की ट्यूशन फीस बढ़ोतरी की गई है। यह पूर्णतः छात्र व अभिभावक विरोधी कदम है। उन्होंने हैरानी व्यक्त की है कि शिक्षा विभाग की नाक तले अंधेरा है व इस से दो सौ मीटर दूर डीपीएस स्कूल व शिमला शहर के अन्य स्कूलों में ही शिक्षा विभाग अपने आदेशों को ही लागू नहीं करवा पा रहा है।

यह रहे माैजूद

​​​​​​​प्रदर्शन में राजीव सूद, विक्रम शर्मा, हेमंत शर्मा, मनीष मेहता, विकास सूद, अमित राठौर, विवेक कश्यप, बलबीर पराशर, बाबू राम, बालक राम, सोनिया सबरबाल, कपिल नेगी, रजनीश वर्मा, ऋतुराज, यशपाल, पुष्पा वर्मा, संदीप शर्मा, यादविंद्र कुमार, कपिल अग्रवाल, नीरज ठाकुर, रेखा, शोभना सूद, निशा ठाकुर व दलजीत सिंह आदि शामिल रहे।

खबरें और भी हैं...