पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • On The Birth Anniversary Of Constitution Builder Ambedkar, Flowers Were Offered On The Idol, But He Forgot To Sing The National Anthem.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अनदेखी:संविधान निर्माता अंबेडकर की जयंती के दिन मूर्ति पर फूल ताे चढ़ाए, लेकिन राष्ट्रगान गाना भूल गए आयाेजक

शिमलाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भारत रत्न बाबा साहब डाॅ. भीमराव अंबेडकर की 130वीं जयंती के कार्यक्रम में उस समय विवाद सामने आ गया, जब यहां आयाेजक ही राष्ट्रगान गाना भूल गए। चौड़ा मैदान में बुधवार को अंबेडकर जयंती पर निगम ने कार्यक्रम करवाया। खास बात ये है कि जाे कार्यक्रम का शेड्यूल जारी किया गया था, उसमें भी राष्ट्रगान का समय तय था।

इसके लिए बाकायदा नगर निगम की ओर से आमंत्रण पत्र भी जारी किया गया था। ठियाेग के विधायक और माकपा नेता राकेश सिंघा ने आराेप लगाया है कि बाबा साहब अंबेडकर की जयंती पर हर साल राष्ट्रगान हाेता है, जबकि इस बार सरकार की ओर से राष्ट्रगान नहीं किया गया। प्राेटाेकाॅल के तहत इस तरह के किसी भी कार्यक्रम में राष्ट्रगान हाेना जरूरी है।

विधायक सिंघा ने पत्रकाराें से बात करते हुए कहा कि अब सरकार मात्र औपचारिकताएं पूरी कर रही है। इसका सीधा उदाहरण राष्ट्रगान काे ही भूल जाना है। उन्हाेंने कहा कि दलिताें पर अत्याचार लगातार बढ़ रहे हैं। जबकि सरकार के नुमाइंदे बाबा साहब की जयंती पर ही दिखाई देते हैं।

साल के 364 दिन दलिताें की सुनवाई नहीं की जाती है, जबकि जयंती के दिन महज दिखावे के लिए बाबा साहब काे फूल मालाएं चढ़ाई जाती है। कांग्रेस सचिव वेद प्रकाश ठाकुर ने प्रदेश सरकार पर डॉ.भीमराव अंबेडकर का अपमान करने का आरोप लगाया हैं।

जिस अधिकारी की ड्यूटी इस कार्यक्रम के लिए लगाई गई थी, उन्हें प्राेटाेकाॅल की जानकारी नहीं थी। हालांकि, हमें भी खेद है कि राष्ट्रगान करवाया जाना चाहिए था। ये मानवीय भूल के कारण हुआ है।
सत्या काैंडल, मेयर, नगर निगम

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत होगा। जिससे आपकी विचार शैली में नयापन आएगा। दूसरों की मदद करने से आत्मिक खुशी महसूस होगी। तथा व्यक्तिगत कार्य भी शांतिपूर्ण तरीके से सुलझते जाएंगे। नेगेट...

    और पढ़ें