• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • People Coming To Shimla Should Read This News, There Is Jam Everywhere On Cart Road, In Such A Situation Problems Will Increase.

शिमला की कार्ट रोड जाम:पहाड़ी से मलबा आने से बंद हुई सड़क; कांग्रेस भवन से शुरू हुई वाहनों की कतारें 103 टनल तक पहुंचीं

शिमलाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
शिमला के कार्ट रोड पर पुराना बस अड्‌डा के पास लगा जाम। - Dainik Bhaskar
शिमला के कार्ट रोड पर पुराना बस अड्‌डा के पास लगा जाम।

हिमाचल के शिमला जिले की लाइफ लाइन कार्ट रोड जाम हो गई है। जिसके कारण कांग्रेस भवन से शुरू हुई वाहनों की कतारें 103 टनल तक जा पहुंची हैं। कांग्रेस भवन के नजदीक घोड़ा अस्पताल के पास पहाड़ी दरक जाने के कारण सड़क बंद हो गई और जाम लग गया। ऐसे में शिमला की लाइफ लाइन कार्ट रोड ठप पड़ गई। लोकल बसें भी आधा घंटा देरी से पहुंचीं। कई लोग पैदल अपने कार्यालयों तक पहुंचे।

सोमवार का दिन होने के चलते वैसे भी शिमला में काफी संख्या में वाहन पहुंचते हैं। 6 से 7 हजार अधिक वाहनों की संख्या शिमला में बढ़ जाती है। जिससे ट्रैफिक बढ़ जाता है और शिमला की सड़कें जाम होना शुरू हो जाती हैं। लेकिन 2 दिन से हो रही बारिश के कारण घोड़ा अस्पताल के पास पहाड़ी से मलबा आ गया, जिससे कार्ट रोड बाधित हो गई। मलबे को साइड करके कार्ट रोड को चालू किया जाएगा।

रेंग-रेंग कर आगे बढ़ते रहा ट्रैफिक।
रेंग-रेंग कर आगे बढ़ते रहा ट्रैफिक।

कार्ट रोड के अलावा नहीं है और कोई विकल्प

गौरतलब है कि कार्ट रोड शिमला के महत्वपूर्ण स्थानों को आपस में जोड़ती है। ऐसे में कार्ट राेड शिमला की लाइफ लाइन कही जाती है। इस रोड पर सबसे ज्यादा ट्रैफिक होता है। शिमला बाईपास से लेकर 103 टनल, रेलवे स्टेशन, विक्ट्री टनल, पुराना बस अड्डा, शिमला की सेंट्रल पार्किंग, टॉलेंड, छोटा शिमला, सचिवालय, संजौली सभी स्टेशन कार्ट रोड किनारे पड़ते हैं।

लोग पैदल ही अपने कार्यालयों तक पहुंचे।
लोग पैदल ही अपने कार्यालयों तक पहुंचे।

कार्ट रोड खोलने के लिए लगाए जा रहे हैं डंगे

राजधानी शिमला में कार्ट रोड पर बड़े ट्रैफिक के दबाव के चलते इसे चौड़ा करने का काम किया जा रहा है। ऐसे में जगह-जगह पर रोड को खोलने के लिए पहाड़ों की कटिंग करके डंगे लगाए जा रहे हैं, लेकिन बावजूद इसके कार्ट रोड जाम हो रही है।

घोड़ा चौकी के पास पहाड़ी से आया मलबा।
घोड़ा चौकी के पास पहाड़ी से आया मलबा।

स्कूल खुलने के साथ और बढ़ गई समस्या

स्कूल खोलने के साथ ही शिमला में जाम की समस्या और बढ़ गई है, क्योंकि अभिभावक अपने बच्चों को स्कूल छोड़ने के लिए वाहनों में जा रहे हैं, जबकि सैलानियों की संख्या भी बढ़ रही है। ऐसे में शिमला में लगातार ट्रैफिक का दबाव बढ़ने से समस्या बढ़ गई है।