चुनाव से पहले विपक्ष को मिला बड़ा मुद्दा:पेपर लीक मामले में घिर रही सरकार, 9 मई को कांग्रेस का प्रदर्शन

शिमला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रदर्शन करते हुए कांग्रेस कार्यकर्ता।      (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
प्रदर्शन करते हुए कांग्रेस कार्यकर्ता। (फाइल फोटो)

हिमाचल में पुलिस कांस्टेबल भर्ती की लिखित परीक्षा का पेपर लीक होने का मामला तूल पकड़ सहा है। इस मामले में कांग्रेस ने 9 मई को प्रदेशभर में सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करने का निर्णय लिया है। कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष प्रतिभा सिंह ने कहा कि इस प्रदर्शन के माध्यम से सरकार से उचित जांच और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की जाएगी।

बड़ी मछलियों पर भी हो कार्रवाई: प्रतिभा सिंह
प्रतिभा सिंह ने बताया कि इस मामले में कांग्रेस चाहती है कि कार्रवाई केवल छोटी मछलियों पर न हो बल्कि बड़ी मछलियों को जल्द सलाखों के पीछे डाला जाएं। उन्होंने बताया कि पेपर लीक होने से न केवल परीक्षा देने वाले हजारों युवा आहत हुए हैं, बल्कि उनके परिजनों की उम्मीदों पर भी पानी फिरा है। बच्चों ने कठिन परिश्रम के बाद यह परीक्षा दी थी और अब अधिकारियों की लापरवाह से उन्हें दोबारा परीक्षा देनी होगी।

दूसरे विभागों में कैसे पारदर्शिता की करेंगे उम्मीद

प्रतिभा सिंह ने कहा कि पुलिस महकमा ही जब अपनी परीक्षा पारदर्शिता के साथ नहीं करवा पा रहा है तो दूसरे विभागों में इसकी उम्मीद नहीं की जा सकती है। बीते कुछ साढ़े चार सालों के दौरान नौकरियां देने में इसी तरह का भाई-भतीजावाद और बेक डोर एंट्री का तरीका अपनाया गया है। इसे देखते हुए उन्होंने अपने सभी राज्य कार्यकारिणी, जिला व ब्लाक कार्यकारिणी के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं से सोमवार को बड़े स्तर पर प्रदर्शन करने को कहा है।
सरकार पर भारी पड़ सकता है यह मुद्दा
हिमाचल में इसी साल विधानसभा चुनाव होने है। इससे पहले विपक्ष को बैठे-बिठाएं सरकार केस खिलाफ बड़ा मुद्दा मिल गया है। इन चुनाव में यह मुद्दा सत्तारूढ़ भाजपा के लिए गले की फांस बन सकता है, क्योंकि यह मामला हजारों परिवारों से जुड़ा हुआ है। पुलिस कांस्टेबल की भर्ती 70 हजार से अधिक युवाओं ने दी है। खासकर जिन युवाओं ने अपनी मेहनत से पेपर पास कर मेरिट में जगह बनाई है, उनके सपनों पर पानी फिर गया है। यही वजह है कि कांग्रेस के साथ साथ आम आदमी पार्टी और माकपा भी इस मुद्दे को जोर शोर से उठा रही है।

केवल नियुक्ति का हो रहा था इंतजार

मेरिट वाले युवाओं की लगभग चयन प्रक्रिया लगभग पूरी हो गई थी। इन दिनों जिला स्तर पर दस्तावेजों के प्रमाणीकरण का काम चल रहा था। केवल मात्र नियुक्ति के आदेशों का इंतजार हो रहा था। यह भर्ती करीब 1700 पदों के होनी है। अब इसके लिए जल्द लिखित परीक्षा ली जाएगी।